Gwalior Court News: ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। विशेष न्यायिक मजिस्ट्रेट ने बिना लाइसेंस के फल मंडी से आम बेचने वाले व्यापारी श्रीकृष्ण राठौर को तीन महीने की सजा सुनाई है और 500 रुपये का जुर्माना लगाया है। आरोपित के पास फल बेचने का लाइसेंस नहीं था और कार्वेट से आम पकाए जा रहे थे। कोर्ट से 11 साल बाद फैसला आया है।

खाद्य विभाग टीम ने दो अगस्त 2011 को जनकगंज स्थित फल मंडी में निरीक्षण करने पहुंची। टीम ने श्रीकृष्ण राठौर की दुकान की जांच की। यहां पर मानव विक्रय के लिए आम रखे हुए थे। खाद्य विभाग की टीम ने अपना परिचय देते हुए राठौर से वैध लाइसेंस मांगा। उनके पास लाइसेंस नहीं था। आम की पेटियों में कार्वेट रखा हुआ था। यहां से कार्वेट की 15 पुड़िया मिली। कार्वेट की जांच के लिए नमूने लिए गए। कार्वेट को जांच के लिए लैब भेजा गया। यह अपद्रव (खतरनाक) मिला। जांच रिपोर्ट आने के बाद 2011 मेें खाद्य विभाग ने परिवाद दायर किया। तभी से यह केस लंबित चल रहा था। हाई कोर्ट ने पुराने केसों के शीघ्र निराकरण का आदेश दिया है। इस केस को चिह्नित किया गया। दंड पर राठौर को सुना गया। आरोपित की ओर से तर्क दिया कि 11 साल से विचारण का सामना कर रहा है। 2016 में हृदय का इलाज भी कराया है। दंड देकर छोड़़ा सकता है। अभियोजन ने सजा की मांग की। कोर्ट ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद बिना लाइसेंस के फल बेचने के आरोप में तीन महीने की सजा सुनाई।

इंटरनेट मीिडया पर कट्टे के साथ वीडियो अपलोड की

इंटरनेट मीिडया पर कट्टे के साथ एक युवक ने वीडियो अपलोड की है। इस वीडियो में युवक पहले गिलास में शराब भर रहा है, इसके बाद कट्टा हाथ में लेता है। यह वीडियो बहुप्रसारित हो रहा है। जिस युवक ने यह वीडियो अपलोड की है, उसकी आइडी पर भी शूटर लिखा हुआ है। वीडियो में पहले युवक शराब के खिलास कट्टा दिखाकर गिनता है, इसके बाद कुछ अन्य युवक दिखते हैं। जन्मदिन का केक काटा जाता है और यहां कट्टे के साथ युवक दिख रहे हैं। क्राइम ब्रांच के डीएसपी ऋषिकेष मीणा ने बताया कि वीडियो सामने आया है, इसकी पड़ताल कराई जा रही है।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close