- वर्ष 2009 में साल्वर के रूप में पीएमटी देने का है आरोप

- कोर्ट ने कहा- मामला गंभीर है, साल्वर को नहीं दी जा सकती जमानत

Gwalior Court News: ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। विशेष न्यायालय सीबीआइ ने पीएमटी कांड के साल्वर राजू रतन यादव का अग्रिम जमानत आवेदन खारिज कर दिया है। कोर्ट ने कहा कि आरोपित के खिलाफ अभियोजन आधारहीन नहीं है, बल्कि दृढ़ आधारों पर आधारित है। प्रकरण की परिस्थितियों को देखते हुए आरोपित को अग्रिम जमानत का लाभ नहीं दिया जा सकता।

छात्र अरविंद गुप्ता के वर्ष 2009 में अनुचित तरीके से पीएमटी पास करने की शिकायत झांसी रोड थाने को प्राप्त हुई थी। इस मामले की पुलिस थाना झांसी रोड ने जांच की थी। इसमें पाया गया कि डाक्टर राजू रतन यादव निवासी ग्राम दरिदिहा, बैली बाजार थाना कलवारी जिला बस्ती (उत्तरप्रदेश) ने पीएमटी वर्ष 2009 में छात्र अरविंद की जगह पर साल्वर के रूप में परीक्षा दी थी। इसके बाद झांसी रोड थाने में आरोपित के खिलाफ धारा 120बी, 419, 420, 467, 468, 471 व मध्यप्रदेश मान्यता प्राप्त परीक्षा अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया था। सीबीआइ ने पूरक चालान पेश किया। इस मामले में सैवान नईम, शिशुपाल, रूपेश कुशवाह, मोहम्मद नईम एवं राजू अहिरवार के नाम भी सामने आए। राजू रतन ने छह अप्रैल को अग्रिम जमानत का आवेदन लगाया। सीबीआइ ने इस जमानत आवेदन का विरोध किया। कोर्ट ने आवेदन खारिज करते हुए गिरफ्तारी वारंट जारी करने के आदेश दिए हैं।

Posted By: anil.tomar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags