Gwalior Crime News: ग्वालियर. नईदुनिया प्रतिनिधि। 10 साल के नितिन की संदिग्ध परिस्थतियों में जहर से हुई मौत के बाद की गई पड़ताल में साफ हो गया है कि सौतेली मां ने ही 10 लाख रुपये हासिल करने के लिए उसकी जहर देकर हत्या की है। संदेही मां पुलिस की निगरानी में है। सोमवार को पीएम रिपोर्ट नहीं मिलने के कारण हत्या का मामला दर्ज नहीं हो पाया है। नितिन के शव का पीएम करने वाले डाक्टर जुगरान सोमवार की रात को छु्ट्टी से वापस लौट आए हैं। दोपहर तक मृतक किशोर की पीएम रिपोर्ट पुलिस को सौप देंगे। रिपोर्ट के अध्ययन के बाद शाम तक हत्या का मामला दर्ज होने का दावा पुलिस अधिकारी कर रहे हैं। क्योंकि शार्ट पीएम रिपोर्ट में किशोर की जहर से मौत होने के संकेत मिले थे। संदेही सौतेली मां ने भी नितिन को जहर देने की बात स्वीकार कर ली है। पुलिस ने उसे अभी गिरफ्तार नहीं किया है। पुलिस ने उसे निगरानी में अवश्य ले लिया है।

मुरार निवासी राजू मिर्धा के 10 साल के बेटे नितिन की शुक्रवार की रात को अचानक हालत बिगड़ गई थी। उसे इलाज के लिए अस्पताल ले गए। जहां उसकी मौत हो गई। डाक्टर के बच्चे की मौत जहर से होने की आशंका जताई। उसके बाद पुलिस हरकत में आई। शुरुआती जांच में पता चला कि नितिन की मां की कुछ समय पूर्व मौत हो चुकी है। जूली उसकी सौतेली मां है। चार साल पहले नितिन की मां की सड़क हादसे में मौत हो गई थी। क्लेम करने पर 16 लाख रुपये मिले थे। पिता ने 10 लाख रुपये बेटे के नाम पर एफडी करा दी थी। इसी बात से जूली नाराज थी। उसने पति पर दवाब डाल रही थी।यह पैसा बेटे के खाते से निकलकर दे, लेकिन राजू किसी भी सूरत में इसके लिए तैयार नहीं थी। इन्हीं पैसों को हासिल करने के लिए जूली ने सौतले बेटे की जहर देकर हत्या कर दी। यह बात पड़ताल में लगभग साफ हो गई है, लेकिन मौखिक पीएम रिपोर्ट में जहर से नितिन की मौत होने के संकेत मिले है। पुलिस संदेही सौतेली मां के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज करने के लिए पीएम रिपोर्ट का इंतजार है। टीआई शैलेंद्र भार्गव ने बताया कि पड़ताल में लगभग साफ हो गया है कि नितिन की जहर की देकर हत्या हुई। सोमवार को डाक्टर के अवकाश पर होने के कारण पीएम रिपोर्ट नहीं मिल पाई है। डाक्टर को काल कर पीएम रिपोर्ट के संबंध में चर्चा की था। उन्होंने बताया कि रात तक वह छुट्टी से वापस आ गए हैं मंगलवार की दोपहर तक पीएम रिपोर्ट पुलिस को सौप देंगें। संदेही को मां को पूछताछ के बाद छोड़ने की बात पुलिस कह रही है, लेकिन पुलिस का दावा है कि वह पुलिस की 24 घंटे की निगरानी में है।

Posted By: anil.tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local