ग्वालियर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। लॉकडाउन के कारण दिल्ली में काम बंद कर ग्वालियर आ गए। सोचा यहां अपनी ट्रेवल्स एजेंसी बनाएंगे। दाल बाजार के एक दलाल ने अपनी कार बेचने की बात कही। 5.25 लाख रुपये जमा भी करा लिए पर कार नहीं दी। दलाल बोला- 2 दिन में फाइनेंस कंपनी को पैसा जमा करने के बाद नो-ड्यूज करा देंगे। पर इसके बाद न कार मिली न ही दलाल। पीड़ित इंदरगंज थाने पहुंचा और शिकायत की। पुलिस ने धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर लिया है।

सिटी सेंटर महलगांव निवासी भूपेन्द्र सिंह पुत्र गोपाल सिंह परिहार दिल्ली में ट्रेवल्स एजेंसी पर गाड़ी चलाते थे। पर कोरोना के चलते लॉकडाउन लगा तो काम बंद हो गया। इस पर अपनी सारी जमा पूंजी लेकर वह ग्वालियर अपने घर चले आए। अब यहां आने के बाद उन्होंने सोचा कि जो करेंगे अपने घर से ही करेंगे और पुरानी गाड़ियों की तलाश करने लगे। जिससे अपनी ट्रेवल्स एजेंसी बना सकें। इसी बीच 2 महीने पहले उन्हें दाल बाजार का दलाल सतेन्द्र जैन मिला। उसने अपनी कार बेचने की बात कही। इस पर भूपेन्द्र कार खरीदने तैयार हो गए। दोनों के बीच 5.25 लाख रुपये में सौदा तय हुआ। भूपेन्द्र ने कुछ दिन पहले गिर्राज मंदिर इंदरगंज के पास उसे पूरी रकम दे दी। सतेन्द्र ने कार यह कहकर अपने पास रख ली कि वह फाइनेंस है, इसलिए फाइनेंस कंपनी में यह रुपया जमा कर वह नो-ड्यूज कराने के बाद कार दे देगा। भूपेन्द्र मान गए पर दो दिन का समय मांगने के बाद सप्ताह गुजर गया। जब कार नहीं मिली तो वह सतेन्द्र के घर पहुंचे। पता लगा कि वह सामान समेटकर कहीं और चला गया है। इस पर पीड़ित ने मामले की शिकायत इंदरगंज थाने पहुंचकर की। पुलिस ने जांच के बाद शनिवार रात धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर लिया है। आरोपित की तलाश की जा रही है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020