Gwalior Crime News: ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। संजय वाल्मीकि की पीएम रिपोर्ट में हैंगिंग आने से साफ हो गया है कि युवक की हत्या नहीं हुई है। उसने प्रेमिका के घर जाकर फांसी लगाकर आत्महत्या की है। नाबालिग ने पड़ताल के दौरान पुलिस को बताया था कि हम दोनों एक दूसरे के साथ शादी करना चाहते थे। मेरे घरवाले इसके लिए तैयार नहीं थे। 25 जून को मेरी सगाई होनी थी। सगाई से पहले दोनों ने आत्महत्या करने का फैसला किया था। पहले मैंने अपने गले में फांसी का फंदा डाला। संजय ने उसे उतारकर अपने गाले में डाला और लटक गया। उसके बाद मैं आत्महत्या नहीं कर सकी। जनकगंज थाना पुलिस ने नाबालिग प्रेमिका, मां व जीजा के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने व सक्ष्य मिटाने का मामला दर्ज कर लिया है।

जनकगंज थाना प्रभारी संजीवनयन शर्मा ने बताया कि रविवार सुबह गोल पहाड़ि़या स्थित मूला दास की बगिया निवासी संजय पुत्र सरनाम वाल्मीकि का शव पड़ोसी के घर के दरवाजे पर पड़ा मिला था। घरवाले संजय की हत्या का आरोप पड़ोसी पर लगा रहे थे। जांच में पता चला था कि संजय पड़ोस में रहने वाली किशोरी से शादी करना चाहता था। किशोरी के घरवाले इसके लिए राजी नहीं थे। किशोरी ने बताया कि दोनों ने एक साथ आत्महत्या करने का फैसला किया था। संजय फांसी पर लटक गया और वह आत्महत्या नहीं कर सकी। किशोरी झूठ बोल रही थी कि उसने अकेले शव को फांसी के फंदे से उताकर दरवाजे पर डाल दिया। जांच में पता चला कि शव को बाहर फेंकने में किशोरी की मदद मां, बहनोई व अन्य घरवालों ने की थी। पीएम रिपोर्ट से युवक के फांसी लगाने की पुष्टि होने के बाद किशोरी सहित उसके घरवालों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close