Gwalior Crime News: ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। ग्वालियर थाना पुलिस ने एक कर्मचारी के आत्महत्या के मामले में कृषि विश्वविद्यालय के चार अधिकारियों के खिलाफ विशेष सत्र न्यायालय में चालान पेश कर दिया।

विशेष लोक अभियोजक ओमप्रकाश शर्मा ने बताया कि अरुण परिहार को कृषि विवि से नौकरी से निकाल दिया था। इससे आहत होकर अरुण कुमार ने आत्महत्या का प्रयास किया था। उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। सुसाइड नोट में उसको प्रताड़ित करने वाले अधिकारियों का नाम लिखकर गया था। पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच की। पुलिस ने कृषि विवि के अधिकारी जगदीश प्रसाद, दिनेश कुमार पालीवाल, डा आरके तिवारी, मृदुला बिल्लोरे के खिलाफ केस दर्ज किया। जांच के बाद कोर्ट में चालान पेश कर दिया गया है।

पंजीयन की राशि वापस लेनेे भटक रहा था एक साल से, निगमायुक्त ने लौटवाईः दुकान के पंजीयन के लिए एक लाख स्र्पये की राशि सुरेंद्र सिंह यादव ने नगर निगम में जमा कराई थी, लेकिन उसे दुकान नहीं मिली। इसके बाद वह अपनी राशि को वापस पाने के लिए एक साल से भटक रहा था, इस दौरान उसने कई बार नगर निगम में अधिकारियों से बात कर दस्तावेज दिए। लेकिन इसके बाद भी उसे राशि वापस नहीं मिली। सोमवार को सुरेंद्र सिंह नगर निगम आयुक्त शिवम वर्मा के पास पहुंचा। वहां पर उसने सारी व्यर्था सुनाई, इसके बाद नगर निगम आयुक्त ने राजस्व के नोडल अधिकारी लोकेंद्र चौहान को तत्काल राशि वापस दिए जाने के निर्देश दिए। नोडल अधिकारी ने तत्काल उनके बैंक खाते में एक लाख स्र्पये ट्रांसफर कराए, वहीं नगर निगम आयुक्त ने सुरेंद्र यादव को पत्र भी प्रदान किया।

Posted By: vikash.pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags