- एक आरोपित का घर आना-जाना भी था, स्वजनों ने लगाया जाम

Gwalior Crime News: ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। पुलिस का वाहन चलाने वाले चालक की हत्या में रंजिश और उधारी के एंगल पर पुलिस पड़ताल कर रही है। इसमें तीन युवकों का नाम सामने आया है, जिसमें से एक युवक का तो चालक के घर अक्सर आना-जाना था। कुछ समय पहले इनमें झगड़ा भी हुआ था। उधर सोमवार को शव का पोस्टमार्टम होने के बाद स्वजनों ने रामदास घाटी पर चक्काजाम कर दिया। करीब एक घंटे तक जाम लगाए रखा, स्वजनों की मांग जल्द से जल्द पूरी करने और आरोपितों को गिरफ्तार करने का आश्वासन मिलने के बाद स्वजनों ने जाम खोला। यहां चक्काजाम होने से आसपास के रास्तों पर घंटों तक वाहन फंसे रहे। गेंडेवाली सड़क पर रहने वाला अजीम उस्मानी पेशे से चालक था। चुनाव के समय वह पुलिस का वाहन चलाता था। बीते रोज उसके घर के दरवाजे पर तीन युवक आए, इन युवकों ने उसे आवाज देकर बाहर बुलाया इसके बाद फायरिंग कर दी। सीने में गोली लगने से चालक की मौत हो गई। इंदरगंज पुलिस ने इस मामले में बाबी खान, आजम खान सहित एक अन्य पर एफआइआर दर्ज की है। सीएसपी इंदरगंज विजय सिंह भदौरिया ने बताया कि बाबी और आजम के अलावा सईद खान का नाम सामने आया है। हत्या की वजह पूरी तरह तो स्पष्ट नहीं है लेकिन अभी यह सामने आया है कि आजम खान का अक्सर अजीम के घर आना-जाना था।

अपहरण की कोशिश करने वाले आरोपित की तलाश

गोला का मंदिर इलाके से नगर निगम अफसर की बेटी और भतीजी के अपहरण की कोशिश करने वाले आरोपित की तलाश जारी है। पुलिस ने अभी तक करीब 30 सीसीटीवी कैमरे खंगाले, इसमें सौ से अधिक एक्टिवा देखीं। कुछ जगह आरोपित नजर आया है, लेकिन अंधेरा होने की वजह से एक्टिवा का नंबर स्पष्ट नहीं हो सका है। यही कारण है कि अभी तक आरोपित की गाड़ी का नंबर भी पुलिस पता नहीं कर पाई है।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close