Gwalior Crime News: ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। घाटीगांव के जंगल में वनखेड़ी मंदिर के महंत मोहननंद गिरी व उनके चेले अमित तिवारी को लाठियों से पीटकर बदमाशों ने 70 हजार रुपये लूट लिए। तीन लुटेरे बाइक से शुक्रवार की आधी रात को मंदिर में आए थे। पहले बदमाशों ने महंत व उनके चेले को लाठियों से पीटा फिर पैसा लूटने के बाद बदमाश गुरु व चेले को कमरे में रस्सियों से बांधकर डाल गए। शनिवार की सुबह श्रद्घालुओं को गुरु-चेला रस्सियों से बंधे मिले। घाटीगांव थाना पुलिस ने अज्ञात बदमाशों के खिलाफ लूट का मामला दर्ज किया है। घाटीगांव से चार-पांच किलोमीटर दूर जंगल में वनखेड़ी मंदिर है। इस मंदिर के महंत मोहननंद गिरी हैं। महंत अपने शिष्य अमित के साथ मंदिर में बने कमरों में रहते हैं। शुक्रवार की रात भोजन करने के बाद गुरु-शिष्य मंदिर के पट बंद कर कमरे में सोने चले गए। आधी रात को बाइक से कुछ लोग आए और मंदिर में दस्तक दी। महंत ने समझा कि कोई आधी रात को मदद मांगने आया होगा। दरवाजा खोलते ही बाइक सवार बदमाश धक्का देकर अंदर घुस आए।

श्रद्घालुओं के मंदिर पर आने पर बंधे मिले महंतः मंदिर पर दर्शन करने के लिए भूपेंद्र आए। महंत को नहीं देखकर उन्होंने फोन लगाने का प्रयास किया। मोबाइल बंद आने पर मंदिर के महंत से मिलने के लिए उनके कमरे में गया। दरवाजा खोलकर देखा ताे मोहननंद गिरी के साथ उनका शिष्य भी कमरे में रस्सी से बंधे पड़े थे। रस्सियां खोलकर दोनों को मुक्त कराया। उसके बाद महंत ने लूट की घटना बताई। सूचना मिलते ही ग्रामीण वनखेड़ी मंदिर पर जमा हो गए। घाटीगांव थाना पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने हुलिया के आधार पर लुटेरों की तलाश शुरू कर दी। जंगल में सर्चिंग के लिए पुलिस पार्टी भेजी गई है। पुलिस को आशंका है कि लूट की घटना में मुरैना के बदमाशों का हाथ हो सकता है।

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local