Gwalior Crime News: ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। मानसिक रूप से दिव्यांग 14 साल का किशोर निरावली तिराहे पर शनिवार रात को एफआरवी (पुलिस वैन) को भटकता मिला। किशोर अपना नाम व घर का पता नहीं बता पा रहा था। एफआरवी ने दिव्यांग किशोर के मिलने की सूचना तत्काल पुलिस कंट्रोल रूम को दी। इसी बीच किशोर को तलाशते हुए उसके माता-पिता बहोड़ापुर थाना पहुंचे। इसके बाद एफआरवी ने किशोर को उसके माता-पिता तक पहुंचा दिया।

शनिवार रात को एफआरवी निरावली तिराहे पर तैनात थी। आधी रात को ठिठुरनभर ठंड में एक किशोर भटकता नजर आया। जवानों ने इस किशोर को रोक लिया। किशोर से उसका नाम-पता पूछने पर वह कुछ नहीं बता पा रहा था। किशोर से बात करने पर उनकी समझ में आ गया कि किशोर मानसिक रूप से कमजोर है। एफआरवी ने पुलिस कंट्रोल रूम को सूचना दी। कंट्रोल रूम में तैनात प्रधान आरक्षक भागीरथ ने शहर व देहात के थानों तक यह सूचना पहुंचा दी। इसी बीच रामाजी के पुरा निवासी दंपती अपने पुत्र को काफी तलाश करने के बाद बहोड़ापुर थाना गुमशुदगी दर्ज कराने पहुंचे। माता-पिता द्वारा बच्चे के मानसिक रूप से कमजोर व हुलिया बताते ही पुलिस समझ गई कि निरावली प्वाइंट पर मिला किशोर इन्हीं का बेटा है। इसके बाद आरएफवी ने किशोर को माता-पिता के पास पहुंचाया।

मानसिक आराेग्यशाला चेकअप कराने आया, खाे गयाः छतरपुर से स्वजन एक मानसिक रूप से दिव्यांग किशाेर काे इलाज के लिए ग्वालियर लेकर आए थे। मानसिक आराेग्यशाला में चेकअप कराने के बाद जब घर लाैट रहे थे ताे अचानक किशाेर कहीं चला गया। काफी खाेजबीन के बाद भी जब नहीं मिला ताे स्वजनाें ने थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई है।

Posted By: vikash.pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags