Gwalior Crime News: ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। महिलाओं की सुरक्षा को लेकर पुलिस कितनी संवेदनशील है इसका ताजा उदाहरण सामने आया है। गोला का मंदिर थाना पुलिस से दुष्कर्म पीड़िता फरियाद करती रही, लेकिन टीआइ टालते रहे। आखिरकार पीड़िता ने एसएसपी अमित सांघी से शिकायत की तो उन्होंने टीआइ की जांच कराई। जांच में टीआइ की शिकायत प्राथमिक तौर पर सही पाई गई और लाइन हाजिर करने के आदेश जारी कर दिए। पीड़िता ने दुष्कर्म की एफआइआर कराई थी और राजीनामा के लिए उसपर दबाव बनाया जा रहा था, यही शिकायत वह बार-बार टीआइ विनय शर्मा से कर रही थी।

पीड़िता की शिकायत पर दुष्कर्म की एफआइआर तो गोला का मंदिर थाना पुलिस ने दर्ज कर ली थी। इसके बाद आरोपित पक्ष की ओर से राजीनामा करने के लिए दबाव बनाया जा रहा था। राजीनामे के लिए धमकाने का मामला टीआइ विनय शर्मा को पीड़िता ने बताया, लेकिन वे एफआइआर की बजाय टालमटोल करते रहे। पीड़िता ने एसएसपी को शिकायत की तो एसएसपी ने मुरार सर्कल के सीएसपी ऋषि कुमार मीणा को जांच सौंपी थी।

हत्या व दहेज हत्या में नामजद आरोपित को देवास से पकड़ाः विवाहिता की हत्या व दहेज हत्या के मामले में नामजद आरोपित अयान शर्मा को यूनिवर्सिटी थाना पुलिस ने बुधवार की रात देवास से पकड़ लाई है। आरोपित को कोर्ट ने फरार घोषित किया था। आरोपित को जेल भेज दिया है। गौरतलब है कि विवाहिता का शव अधजली अवस्था में कैलाश टावर के पीछे खाली पड़े मैदान में 15 जनवरी 2021 को मिला था। यूनिवर्सिटी थाना प्रभारी संतोष मिश्रा ने बताया कि दहेज हत्या में नामजद आरोपित के देवास में होने की सूचना मिली थी। एक टीम को गंगानगर थाना कोतवाली देवास भेजकर एक मकान से उसे गिरफ्तार कर लिया। आरोपित मृतका का नंदोई था। आरोपित ने पूछताछ में अनामिका की हत्या में संलिप्ता को स्वीकार कर लिया है। कैलाश विहार मैट्रो टावर के पीछे एक अधजली महिला का शव पड़ा मिला था। दूसरे दिन मृतका के हुलिए के आधार पर उसकी शिनाख्त अनामिका पुत्री माधव सिंह निवासी ग्राम बिलहरा जिला सागर के रूप में हुई। विवेचना के दौरान मृतका के पिता व बहन के कथनों व जांच में आए परिस्थितिजन्य साक्ष्यों के आधार पर थाना विश्वविद्यालय पुलिस द्वारा दहेज हत्या व हत्या का मामला दर्ज किया था।

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close