Gwalior Crime News: ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। हजीरा इलाके में महिला के अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझने के बाद दाे अन्य हत्या की वारदात का भी खुलासा हुआ है। तांत्रिक सखी बाबा उर्फ गिरवर यादव ने पुलिसिया पूछताछ में दाे और युवतियाें की हत्या का राज उगल दिया है। इसमें एक महिला का शव सरायकेला में मिला था। आराेपित सखी बाबा उर्फ गिरवर ने पुलिस काे बताया है कि नीरू नाम की लड़की की हत्या बलि के लिए की गई थी। जिसका शव सरायकेला में मिला था। तांत्रिक ने बताया कि युवती के नशे में हाेने के कारण बलि स्वीकार नहीं की गई थी। इसके अलावा तांत्रिक ने एक अन्य युवती की हत्या का राज भी उगला है।

क्या है घटनाक्रमः गुरुवार की सुबह मुरैना हाईवे पर ट्रिपल आइटीएम के पास एक महिला के शव मिलने से सनसनी फैल गई थी। महिला की पहचान लक्ष्मी उर्फ आरती मिश्रा के रूप में हुई थी। पुलिस अधीक्षक अमित सांघी ने बताया कि महिला का शव मिलने के बाद फोरेंसिक एक्सपर्ट की जांच और पोस्टमार्टम से साफ हो गया था कि महिला की गला घोंटकर हत्या की गई थी। इस अंधे कत्ल की पड़ताल के लिए एएसपी हितिका वासल व सीएसपी रवि भदौरिया की टीम को लगाया गया। पुलिस को पता चला कि मृतका के कई लोगों से मित्रता है।

क्याें की गई हत्याः इस मामले में पड़ताल में पता चला कि एक तांत्रिक के कहने पर दंपती ने बहन और उसके एक पुरुष दोस्त के साथ मिलकर महिला की हत्या की थी। साथ ही शव को ट्रिपल आइटीएम के पास सड़क पर छोड़कर भाग गए थे। आरोपित दंपती ने बताया कि उनकी शादी को 18 साल हो गए थे और उनकी कोई संतान नहीं थी। कोरोना के दौरान नौकरी चली जाने से घर की आर्थिक हालत भी ठीक नहीं थी। बहन के दोस्त के कहने पर हम तांत्रिक सखी बाबा उर्फ गिरवर यादव से मिले। बाबा ने हमें बताया कि किसी महिला की बलि दोगे तो तुम्हारा भाग्योदय हो जाएगा और सभी परेशानियां दूर हो जाएंगी। शरद पूर्णिमा की रात को हमने महिला को घर बुलाया और गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी। शव को बाबा को दिखाने ले जा रहे थे तभी बाइक स्लिप हो गई। शव को सड़क किनारे छोड़कर हम भाग गए।

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local