- अनुशासन हुआ तार-तार, दोनों पक्ष रिपोर्ट दर्ज कराने पहुंचे,

- मूल विवाद पार्षदी का टिकिट है, युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष की स्वागत की रणनीति के लिए बुलाई गई थी बैठक

Gwalior Crime News: ग्वालियर.नईदुनिया प्रतिनिधि। भाजपा कार्यालय के नीचे पूर्व पार्षद बलवीर सिंह तोमर व सैनिक प्रकोष्ठ के अध्यक्ष शीतल सिंह भदौरिया के पुत्रों के बीच जमकर मारपीट हो गई। कट्टे व पिस्टल चमकने से सड़क पर अफरा-तफरी मच गई। दोनों पक्ष एक दूसरे पर मारपीट करने का आरोप लगा रहे हैं। मामला जनकगंज थाने तक पहुंच गया है। शीतल सिंह भदौरिया के बेटे वीर विक्रम सिंह भदौरिया का आरोप है कि छोटू तोमर व उसके साथियों ने कट्टे व पिस्टल के ब्ट से मारपीट की है। जबकि बलवीर सिंह तोमर का कहना है कि सभी लोग बैठक में आए थे। कोई हथियार लेकर नहीं आया था। स्वागत करने को लेकर कहासुनी के बाद हाथापाई हुई है। जनकगंज थाना पुलिस मारपीट की घटना की वास्तविकता का पता लगाने के लिए मुखर्जी भवन के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरे खंगालेगी। झगड़ा प्रदेश युवा मोर्चा के अध्यक्ष वैभव पवार के 27 फरवरी को नगरागमन को लेकर स्वागत की तैयारियों को लेकर बुलाई गई बैठक में हुआ है। जिलाध्यक्ष कमल माखीजानी का कहना है कि बैठक के बाद झगड़ा पार्टी कार्यालय के बाहर होने की जानकारी मिली है। दोनों पक्षों के बीच मूल विवाद पार्षदी के टिकिट की दावेदारी का है।

पहले बैठक में हुई कहासुनी-

भाजपा नेता बलवीर सिंह तोमर व शीतल सिंह भदौरिया एक ही वार्ड से टिकट के दावेदार है। पिछले चुनाव में टिकिट बलवीर सिंह को मिला था। एक बार फिर दोनों एक ही वार्ड से टिकिट की दावेदारी कर रहे हैं। युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष वैभव पवार 27 फरवरी को दतिया से ग्वालियर आ रहे हैं। प्रदेश अध्यक्ष के स्वागत की रणनीति के लिए बैठक बुलाई गई है। बैठक में जिला भाजपा अध्यक्ष कमल माखीजानी व युवा मोर्चा के जिलाध्यक्ष विवेक सिंह की मौजूदगी में यह तय होना था कि कौन कहा स्वागत करेगा। वीर विक्रम सिंह भदौरिया व छोटू तोमर के बीच स्वागत करने को लेकर कहा सुनी हो गई। इसके बाद दोनों पक्ष मुखर्झी के सामने भिड़ गए। वीर विक्रम सिंह का आरोप है कि छोटू तोमर ने अपने लोग बुलाकर उसके साथ मारपीट की। जबकि बलवीर सिंह तोमर का आरोप है कि उनके समर्थक रवि शर्मा के साथ मारपीट की है।

चुनाव की रंजिश के चलते मारपीट की -

पूर्व पार्षद बलवीर सिंह तोमर ने आरोप लगाया कि शीतल सिंह भदौरिया भी उनके वार्ड से दावेदारी करते हैं। पूर्व के चुनाव में मुझे टिकट मिलने को लेकर उनका बेटा वीर विक्रम सिंह भदौरिया बौखलाया हुआ है। युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष के स्वागत के लिए बुलाई गई बैठक में वीर विक्रम सिंह ने पहले उनके समर्थक रवि शर्मा के साथ जमकर मारपीट की। जब इस बात की सूचना मेरे और समर्थकों को लगी तो वो लोग आ गए और दोनों पक्षों के बीच मारपीट हो गई। कट्टे व पिस्टल के बट्ट से मारपीट करने का आरोप झूठा है। कोई बैठक में हथियार लेकर नहीं आता है। यह लोग इसी तरह से माहौल को खराब करने व झूठे प्रकरण दर्ज कराने का प्रयास करते हैं।

छोटू तोमर व उसके साथियों ने कट्टे व पिस्टल के बट्ट से पीटा-

सैनिक प्रकोष्ठ के अध्यक्ष शीतला सिंह भदौरिया का आरोप है कि पूर्व पार्षद के पुत्र छोटू तोमर आपराधिक प्रवृत्ति का है। बैठक में मेरे बेटे वीर विक्रम सिंह भदौरिया के प्रदेश अध्यक्ष का स्वागत करने के लिए स्थान चिन्हित करने का अनुरोध करने पर छोटू तोमर बोला तो क्या स्वागत करेगा। इसी बात पर कहा सुनी हो गई। वीर विक्रम सिंह भदौरिया ने बताया कि इस विवाद के बाद छोटू तोमर ने अपने लड़के बुला लिए। और उसके साथ कट्टे व पिस्टल के बट् से उसके साथ मारपीट की। भदौरिया का आरोप है कि हमलावरों ने उसकी तीन तौले सोने की चेन लूट ली।

पार्टी कार्यालय में नहीं बाहर हुआ झगड़ा-

भाजपा जिलाध्यक्ष कमल माखीजानी ने बताया कि बैठक समाप्त होने के बाद मुझे पता चला कि इन लोगों के बीच विवाद हो रहा है. तो मैं भी नीचे आ गया था। दोनों पक्षों को अलग कर छोटू तोमर को घर भेज दिया था। उसके बाद वह साईं बाबा के दर्शन करने के लिए आ गए। इसके बाद जनकगंज थाना प्रभारी ने उन्हें दोनों पक्षों के बीच मारपीट होने की सूचना दी है। पुलिस दोनों पक्षों के सुनने के उपरांत कार्रवाई करेगी। पुलिस से कहा है सीसीटीवी फुटेज निकालकर बगैर किसी दवाब के निष्पक्ष कार्रवाई करे।

Posted By: anil.tomar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags