Gwalior Crime News: ग्वालियर। नईदुनिया प्रतिनिधि। गोविंदपुरी में दंपती से हैवानियत दिखाने वाले राज, अनिल और दौलत यादव को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपितों को उनके घर से पकड़ा गया है। आरोपित राज ने कबूल किया है कि उसी ने महिला के ऊपर बीयर डाली थी। इस घटना में 5 बदमाशों को नामजद किया गया था। जिसमें से एक आरोपित को पुलिस ने पहले ही पकड़ लिया था। एक अन्य आरोपित की तलाश में पुलिस जुटी हुई है।

नईदुनिया ने 21 सितंबर के अंक में प्रमुखता से दंपती के साथ हुई हैवानियत का खुलासा किया था। इसके बाद पुलिस हरकत में आई और 24 घंटे में एक आरोपित विक्की यादव को गिरफ्तार किया था। उसे न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है। जबकि बाकी आरोपितों की तलाश में पुलिस जुटी हुई थी। इसी दौरान गुरुवार की रात को पुलिस को सूचना मिली कि राज राय, अनिल यादव व दौलत यादव निवासी घासमंडी अपने घरों में मौजूद हैं।

साथ ही तीनों बदमाश पुलिस की गिरफ्त से दूर जाने की तैयारी में है। पुलिस ने रात में ही इनके घरों पर दबिश दी और तीनों आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने अब फरार आरोपित छोटू की तलाश में मुखबिरों को सक्रिय कर दिया है। खबर है कि कुछ संभावित ठिकानों की जानकारी भी पुलिस को लगी है, इन स्थानों पर दबिश देने के लिए पुलिस पार्टी रवाना की जा रही है।

सीएसपी रत्नेश तोमर ने बताया कि आरोपित संपन्न घर से हैं और स्वजन ठेकेदारी करते हैं। सड़क किनारे लग्जरी कार लगाकर बीयर व शराब पीकर रंगबाजी करने की बात भी बदमाशों ने कबूल की है। पुलिस जिले के अन्य थानों से इनका आपराधिक रिकॉर्ड सर्च कर रही है। आरोपितों से जब सख्ती से पूछताछ की गई तो राज ने कबूल किया कि उसी ने महिला के ऊपर बीयर डाली थी।

यह थी घटना

विश्वविद्यालय थानाक्षेत्र स्थित गोविंदपुरी रोड पर बाल सम्प्रेक्षण गृह के सामने पति के साथ खाना खाकर लौट रही 24 वर्षीय महिला व उसके पति से सफेद रंग की स्विफ्ट कार सवार बदमाशों ने हैवानियत दिखाई थी। घटना 16 सितंबर की रात 11 बजे की थी। आरोपितों ने महिला के पति के सिर पर बीयर की बोतल फोड़ी, आंख में जलती सिगरेट घुसेड़ दी। इसके बाद महिला को घसीटकर सड़क किनारे ले गए।

एक बदमाश ने उस पर बीयर की बोतल उड़ेल दी। महिला को सड़क पर छेड़ा फिर कार में डालकर ले जाने की कोशिश की। दंपती के साथ उनका एक दोस्त अमित भी था। उसको भी बेरहमी से पीटा गया। पीड़ित दंपती थाना पहुंचे तो वहां कोई प्रधान आरक्षक रामकिशन मिले। उन्होंने बिना सुने समझे मारपीट का मामला दर्ज कर खानापूर्ति करके लौटा दिया। 20 सितंबर को इस मामले ने उस समय तूल पकड़ा जब सोशल मीडिया पर महिला के साथ सड़क पर बदसलूकी का वीडियो वायरल हुआ।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020