Gwalior Crime News: जाेगेंद्र सेन, ग्वालियर नईदुनिया। सराफा काराेबारी पर हमले की घटना के बाद व्यापारी लामबंद हाे गए थे। जिससे पुलिस की मुश्कलें खासी बढ़ गई थी। बीते राेेज व्यापारियाें ने दबाव बनाने के लिए जाम लगा दिया था। इसके बाद पुलिस हरकत में आई और हमला करने वाले चाराें आराेपिताें काे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस आराेपिताें से पूछताछ में जुटी हुई है।

मोर गली में सोने-चांदी के आभूषणों का कारोबार करने वाले हरीश अग्रवाल निवासी टकसाल गली दाना ओली शुक्रवार की रात को दुकान पर बैठे थे, उसी समय सरिए व डंडे लेकर संजय पवार, मोहित कपूर, हिमांशु रावत ने अपने भतीजे के साथ हमला बोल दिया था। हमलावरों ने व्यापारी का सिर फोड़ दिया। व्यापारी को बचाने के लिए आए बेटे के साथ भी मारपीट कर दी। इस घटना से गुस्साए व्यापारियाें ने बीते राेज सराफा बाजार में जाम लगा दिया था। व्यापारी आराेपिताें की गिरफ्तारी की मांग पर अड़े थे। पुलिस ने जैसे-तैसे समझाबुझाकर व्यापारियाें काे सड़क से उठाया था। इसके बाद पुलिस ने तेजी दिखाते हुए चाराें आराेपिताें काे गिरफ्तार कर लिया है। कोतवाली थाना पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ रंगदारी वसूलने के लिए दुकान में घुसकर मारपीट करने का मामला दर्ज किया है। कोतवाली थाना प्रभारी राजीव गुप्ता ने बताया कि व्यापारी पर हमला करने वाले चारों आरोपितों को कोर्ट में पेश किया जाएगा। पुलिस रंगदारी मांगने के मामले की जांच कर रही है।

रंगदारी से परेशान थे व्यापारीः घायल सराफा काराेबारी के पुत्र ने आराेप लगाया था कि आराेपित रंगदारी वसूली के लिए आए थे, मना करने पर डंडे सरियाें से किया हमला। व्यापारी पहले से ही उनसे परेशान थे, जब हरीश पर हमला हुआ ताे व्यापारियाें का आक्राेश फूट पड़ा।

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local