- 5 से 7 हजार रुपए कमीशन पर ग्वालियर में करता है सप्लाई

ग्वालियर. नईदुनिया प्रतिनिधि। ग्वालियर पुलिस ने जिस हथियार तस्कर को उपनगर ग्वालियर से पांच पिस्टल के साथ पकड़ा है। वह खरगौन और बुरहानपुर के बड़े सप्लायरों के संपर्क में है। उन्हें वाट्स एप के जरिए पिस्टल के आर्डर देता है। ग्वालियर और आसपास के बदमाशों से आर्डर लेकर वह पिस्टल बनवाता है। इसके बाद इन्हें ग्वालियर मंगवाकर बेचता है। उसने पूछताछ में खरगौन और बुरहानपुर के सप्लायरों नाम बताए हैं। पुलिस उससे यह पूछताछ कर रही है कि ग्वालियर में उससे किसने यह पिस्टल मंगवाई। पूछताछ में तस्कर ने यह भी बताया कि वह पांच से सात हजार रुपए कमीशन पर काम करता है। उसे एक पिस्टल पर पांच से सात हजार रुपए का कमीशन मिलता है।

उपनगर ग्वालियर स्थित लधेड़ी के पास अवैध हथियार की डील होने की सूचना पुलिस मिली थी। इसके बाद पड़ताल के लिए एएसपी अभिनव चौकसे ने ग्वालियर थाने की टीम को टास्क दिया। मुखबिर ने हथियार लेकर आए तस्कर का हुलिया भी बताया। टीम ने शुक्रवार रात को घेराबंदी की और तस्कर को पकड़ लिया। उसका थैला देखा तो उसमें पांच पिस्टम मिली। इसके बाद उसे थाने लाकर पूछताछ की तो उसने अपना नाम नवीन गायकवाड़ पुत्र रावसाहब गायकवाड़ निवासी उटारखाना, फर्स वाली गली, माधोगंज बताया। पूछताछ में उसने यह भी बताया कि वह पिस्टल बेचने के यहां आया था। एएसपी चौकसे ने बताया आरोपित पर एफआइआर दर्ज की गई। वह कमीशन पर पिस्टल खरीदनेे बेचने का काम करता है। उसने खरगौन, बुरहानपुर के तीन सप्लायरों के नाम बताए हैं, जिनसे वह पिस्टल बनवाकर मंगवाता था। वह 10 से 15 हजार में पिस्टल बनवाता था और यहां 20 से 22 हजार रुपए तक बेचता है। पिस्टल की क्वालिटी पर उसका दाम तय होता है। यह आर्डर देकर ही बनवाता है और इस तक एक एजेंट पिस्टल पहुंचाता है।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close