- महाराष्ट्र सहित प्रदेश के अन्य जिलों में बढ़ते कोरोना को देख ग्वालियर में प्रभावी कोविड गाइडलाइन

Gwalior Crisis Management Group News: ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। महाराष्ट्र सहित प्रदेश के इंदौर-भोपाल में बढ़ते कोरोना के आंकड़ों ने अब ग्वालियर को भी चिंता में डाल दिया है। कोरोना को लेकर अभी तक की बेफ्रिकी अब खत्म की जाएगी। महाराष्ट्र सहित बाहर से शहर में आने वाले लोगों के प्रवेश पर सर्विलांस रहेगा। रेलवे स्टेशन पर हर यात्री की थर्मल स्क्रीनिंग होगी और जिले के बॉर्डर पर भी निगाह रखी जाएगी। समारोहों व भीड़ भरे आयोजनों में मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग अनिवार्य की जाएगी। दुकानों के आगे शारीरिक दूरी के लिए फिर से गोले बनेंगे। वहीं शहर में मास्क लगाकर रहने और सैनिटाइजेशन को लेकर अफसरों को मॉनिटरिंग करना होगी। मंगलवार को क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की वर्चुअल बैठक में जनप्रतिनिधियों के कोविड अलर्ट को लेकर सुझाव आए और सभी की सहमति से यह तय किया गया।

कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह ने बैठक में ऑनलाइन क्राइसेस मैनेजमेंट ग्रुप के सदस्यों के सुझाव सुने और उन्हें भरोसा दिलाया कि जिले में कोविड-19 पर नियंत्रण के लिए आवश्यक कदम उठाए जाएंगे। बैठक में आए सुझावों पर भी अमल कराया जाएगा। साथ ही लोगों को जागरूक करने के प्रयास भी होंगे। उन्होंने कहा जिले में कोरोना गाइडलाइन का पालन कराने के लिए गंभीर प्रयास किए जाएंगे। बैठक में सांसद विवेक नारायण शेजवलकर, पूर्व मंत्री नारायण सिंह कुशवाह, पूर्व विधायक रमेश अग्रवाल, मदन कुशवाह व भूपेंद्र जैन सहित सदस्यों ने हिस्सा लिया।

शादियों में अब कम होगी भीड़

कलेक्टर ने बैठक में कहा कि खासतौर पर रेलवे स्टेशन पर आने वाले यात्रियों का तापमान लेने (थर्मल स्क्रीनिंग) की व्यवस्था की जाएगी। साथ ही जिले में होने वाले शादी समारोह एवं अन्य आयोजनों में भीड़ कम करने के प्रयास भी किए जाएंगे। आयोजकों को साफतौर पर बताया जाएगा कि कार्यक्रम में सभी लोग अनिवार्यत मास्क लगाएं और सुरक्षित शारीरिक दूरी का पालन करते हुए बैठें। कार्यक्रम स्थल पर हैंड सैनिटाइजर व हाथ धोने के लिए साबुन-पानी की व्यवस्था भी अनिवार्यत की जाए। उन्होंने कहा कि जिले में अगर कोविड-19 के प्रकरण बढ़ेंगे तो फिर से क्राइसेस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक आयोजित कर नियंत्रण के लिए प्रभावी कदम उठाए जाएंगे।

पहले भी दो माह बाद बढ़ा था प्रकोप

कलेक्टर ने बैठक में यह भी कहा कि पिछले अनुभव बताते हैं कि प्रदेश के भोपाल व इंदौर शहर में कोरोना मरीज बढ़ने के लगभग एक से दो माह के बाद ग्वालियर में कोरोना का प्रकोप बढ़ा था। इसलिए जिलेवासियों को पूरी तरह सजग, सतर्क व सावधान रहने की जरूरत है। बैठक में अपर जिला दंडाधिकारी रिंकेश वैश्य भी वर्चुअल रूप से शामिल हुए।

Posted By: anil.tomar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags