Gwalior Dharma Samaj News: विजय सिंह राठाैर, ग्वालियर नईदुनिया। शुक्लपक्ष की द्वितीया तिथि गुरुवार को धनु राशि से मकर राशि में सूर्यदेव सुबह 8 बजकर 14 मिनट पर प्रवेश कर चुके हैं। श्रवण नक्षत्र उदित हो चुका है, जिसका प्रभाव पूरे दिन बना रहेगा। इसी के साथ खरमास की समाप्ती भी हो जाएगी।

मकर संक्रांति का पुण्य काल मुहूर्त सुबह 8:03 बजे से शुरू हो चुका है, जो दोपहर 12:30 तक रहेगा, जिसकी अवधि 4 घंटे 26 मिनट की होगी। ज्योतिषाचार्य पं. गौरव उपाध्याय के मुताबिक शास्त्रों में यह उल्लेख है कि इस दिन पवित्र नदियों में स्नान, एवं जरूरतमंदों को दान आदि करने से विशेष पुण्य लाभ मिलता है। इस दिन पितरों का तर्पण कर उनकी आत्मा की शांति की प्रार्थना करनी चाहिए। मकर संक्रांति के अवसर पर ग्वालियर शहर के अचलेश्वर मंदिर, सनातन धर्म मंदिर, श्रीराम मंदिर, शीतला माता मंदिर समेत अन्य सभी मंदिरों में भक्तों की कतार लग गई है। सुबह से ही बड़ी संख्या में श्रद्धालु स्नान करके भगवान के दर्शन करने व उन्हें भोग लगाने के लिए पहुंच गए हैं। रात तक मंदिरों में यह सिलसिला जारी रहेगा। मंदिरों में विशेष पूजा अर्चना की जा रही है। लाेगाें ने मंदिराें में पहुंचकर तिल गुढ़, गजक का दान किया। इंटरनेट मीडिया पर मकर संक्रांति की बधाई एवं शुभकामनाओं का दौर शुरू हो गया है।

पतंगबाजी के शाैकिनः मकर संक्रांति पर पतंगबाजी का भी चलन है। श्रद्धालुआें ने सुबह उठकर स्नान करने के बाद ख‍िचड़ी, मंगोड़े, मूंग दाल, गजक, तिल, कंबल, गर्म कपड़े आदि जरूरतमंदों को दान किया। इसके बाद शुरू हुआ पतंगबाजी का दाैर, जाे देर शाम तक जारी रहेगा।

Posted By: vikash.pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस