Gwalior Drinking Water Supply News: ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। गर्मी की शुरुआत होते ही शहर में गंदे पानी व पानी नहीं आने की समस्या आना शुरू हो गई है। पूर्व विधानसभा क्षेत्र के थाटीपुर, मुरार, दक्षिण विधानसभा क्षेत्र में गुड़ा-गुड़ी का नाका, ग्वालियर विधानसभा क्षेत्र के वार्ड 21 व वार्ड 12 में पानी की समस्या से लोग परेशान हैं। यह हालात तब हैं जब नगर निगम आयुक्त ने सभी पीएचई के मैदानी अमले को फील्ड में जलप्रदाय के समय लगातार मानीटरिंग करने के निर्देश दिए हैं। सबसे अधिक परेशानी ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर की विधानसभा क्षेत्र की है।

गंदे पानी की समस्या से जनता को निजात दिलाने के नाम पर पहले विधायक फिर ऊर्जा मंत्री बने प्रद्युम्न सिंह तोमर के क्षेत्र में गंदा पानी व पानी नहीं आने की समस्या सबसे अधिक है। यहां पर वार्ड 12 की लाइन नंबर दो में गंदा पानी आ रहा है। साथ ही लाइन नंबर 1, 8, 9, 10 व रसूलाबाद में पानी की सप्लाई ठीक नहीं होने के कारण लोगों को पेयजल के लिए परेशान होना पड़ रहा है। यहां पर मात्र 10 से 15 मिनट ही पानी की सप्लाई हो पा रही है। पानी का प्रेशर इतना कम है कि टिल्लू पंप लगाकर भी लोगों के घरों तक पानी नहीं पहुंच रहा है।

सीवर का पानी बोरिंग के पास एकत्रित होने से आ रहा गंदा पानीः वार्ड 25 स्थित सूर्य नगर जड़ेरूआ डेम रोड पर सीवर लाइन डाली गई है, लेकिन इसका मिलान कर्मचारियों ने नहीं किया। इसके कारण सीवर ओवरफ्लो होकर बह रहा है, जबकि पास ही बोरिंग भी है, जिससे पूरे क्षेत्र में पानी की सप्लाई होती है। सीवर का पानी बोरिंग के पास एकत्रित हो रहा है। साथ ही पाइप के जरिए वह जमीन के अंदर पहुंच रहा है। जिसके चलते गंदा व बदबूदार पानी आ रहा है।

अमृत योजना का कब मिलेगा लाभः 2018 से शहर में अमृत योजना संचालित की जा रही है। इसके तहत शहर में 710 किलोमीटर तक पानी की लाइनें डाली गई हैं, लेकिन इस 'अमृत" का लाभ जनता को नहीं मिल पा रहा है, क्योंकि आज भी लोगों के यहां पर पुरानी पानी की लाइनों से ही सप्लाई की जा रही है। जगह-जगह पुरानी पड़ चुकी लाइनों में लीकेज है। इसके कारण इनमें सीवर व नालियों का पानी मिल रहा है, जिससे लोगों के घरों में बदबूदार व गंदा पानी पहुंच रहा है। मजबूरी में इस पानी को पीने के बाद लोग बीमार हो रहे हैं।

ऐसे मिलता है पानी की लाइन में गंदा पानीः शहर के अधिकांश हिस्सों में पुरानी पानी की लाइनें डली हुई हैं, लोगों ने इन लाइनों से नल कनेक्शन लिए हुए हैं। यह नल नालियों और सीवर लाइनों के पास से होकर निकलते हैं। जब भी कोई नल टूट जाता है अथवा गल जाता है तो लोग बिना इजाजत लिए चुपचाप नया कनेक्शन ले लेते हैं और टूटे व गले हुए नल को ऐसे ही छोड़ देते हैं। इसके कारण नालियों व सीवर लाइनों में बहने वाला पानी इन नलों के कारण सीधे पानी की लाइन में पहुंच जाता है, यहां से यह साफ पानी में मिलकर लोगों के घराें तक पहुंचता है।

गंदे पानी की पूर्व पार्षद 15 दिनों से कर रहे शिकायत, सुनने वाला कोई नहींः पूर्व विधानसभा क्षेत्र के वार्ड क्रमांक 21 में पूर्व पार्षद चतुर्भुज धनोलिया हनुमान नगर में राजपूत होटल से कालीमाता मंदिर तक के इलाके में सीवरयुक्त पानी आने की शिकायत कर रहे हैं। ऐसे ही हालत वार्ड 21 के पंचशील नगर के हैं, यहां भी गंदा पानी आ रहा है, लेकिन इसके बाद भी समस्या का समाधान नहीं हो सका है। इसी प्रकार वार्ड 22 में गोपालपुर, गोदाम बस्ती में गंदा पानी आ रहा है।

गुड़ा-गुड़ी का नाका पर नहीं पहुंच रहा पानीः नगर निगम आयुक्त के पास गुड़ा-गुड़ी क्षेत्र के राजीव नगर, खंजाची बाबा क्षेत्र के रहवासियों ने पहुंचकर शिकायत की है कि उनके यहां पर पानी नहीं आ रहा है। क्योंकि उनके घरों तक आई पानी की लाइन में लोगों ने अवैध रूप से कनेक्शन ले लिए हैं जिसके कारण लोगों के घरों में पानी नहीं पहुंच रहा है।

वर्जन

ग्वालियर विधानसभा में गंदे पानी की सप्लाई की जा रही है। साथ ही अधिकांश स्थानों पर पानी पहंुच ही नहीं रहा है। कई बार अधिकारियों से शिकायत की, लेकिन सुनने वाला कोई नहीं है।

कृष्णराव दीक्षित, पूर्व नेता प्रतिपक्ष

वर्जन

वार्ड 21 व 22 में गंदा पानी आ रहा है, यहां पर क्षेत्रीय अधिकारी और पीएचई के अधिकारी शिकायत करने के बाद भी देखने तक के लिए नहीं आते हैं। गंदा पानी पीने से लोग बीमार हो रहे हैं।

चतुर्भुज धनोलिया, पूर्व पार्षद वार्ड 21

Posted By: vikash.pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags