Gwalior Education News: ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। आइटीएम में एआइसीटीई की अटल आनलाइन फैकल्टी डेवलेपमेंट प्रोग्राम का समापन सोमवार को किया गया है। समापन सत्र के मुख्यवक्ता (श्रीडॉट्सइनोवेशन.कॉम) के विकनेश वाडिवेल ने ने कहा कि रोबोटिक क्लीनर फर्श को साफ करने और पोंछा लगाने में मदद करता है। यह रोबोटिक क्लीनर एक ऐसा रोबोट होता है, जो कमरे की फर्श को साफ करता है। ऐसे ही स्मार्ट हेल्थ केयर सिस्टम और स्मार्ट आइओटी कार भी इस क्षेत्र का विकसित माडल उभरकर सामने आया है। कम पावर सेंसर नेटवर्क एप्लीकेशन के लिए मानव शरीर सेंसर को संचार का एक कुशल तरीका माना जाता है।

अगले सत्र में लिंग्या विद्यापीठ यूनिवर्सिटी फरीदाबाद के प्रो. नंदकुमार ने आइओटी एनवायरनमेंट के बारे में बताते हुए कहा कि हम अपने मोबाइल फोन को सेंसर के रूप में उपयोग करते हैं, जो गूगल मैप जैसे एप्लीकेशन के माध्यम से हमारे व्हीकल से डेटा इक्ट्ठा करके शेयर करते हैं तो आइओटी का उपयोग हमें सूचित करने के लिए किया जाता है। साथ ही यातायात निगरानी में योगदान करते हैं। एफडीपी में 200 से अधिक प्रतिभागियों ने भाग लिया। इस अवसर पर आइटीएम यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर प्रो. डा. एसके नारायण खेड़कर, डायरेक्टर डा. मीनाक्षी मजूमदार, पूर्व सीएसई विभागाध्यक्ष डा. रिषी सोनी मौजूद रहे। कार्यक्रम का संचालन रीना चौहान ने किया।

Posted By: anil.tomar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags