Gwalior Education News: ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। कोविड-19 संक्रमण के चलते इस बार भी स्नातक व स्नातकोत्तर की ओपन बुक प्रणाली के माध्यम से परीक्षाएं आयोजित कराई जाएंगी, लेकिन लीड कालेजों ने निजी कालेजों से परीक्षा शुल्क मांग लिया है। इसको लेकर कालेजों में भ्रम की स्थिति है। कालेजों ने विश्वविद्यालय स्तर पर शिकायतें शुरू कर दी हैं। इसके चलते जीवाजी विश्वविद्यालय प्राचार्यों की बैठक बुलाने की तैयारी कर रहा है।

कोविड-19 के संक्रमण के चलते पिछले साल ओपन बुक से परीक्षा आयोजित कराई गई थीं। विद्यार्थियों को उनकी आइडी पर पेपर भेजा गया था। साथ ही जेयू ने अपनी वेबसाइट पर पेपर अपलोड कर दिया था, लेकिन कालेजों से परीक्षा शुल्क नहीं लिया गया था। इस साल भी वैसे ही परीक्षा होनी है, लेकिन लीड कालेजों ने निजी कालेजों से परीक्षा शुल्क मांग लिया है। जबकि विद्यार्थी को परीक्षा घर से देनी है। साथ ही कापी की व्यवस्था भी उसे ही करना है। गाैरतलब है कि पहले तृतीय सेमेस्टर की परीक्षा पेपर पेन माेड पर कराने का निर्णय लिया गया था। हालांकि जब काेराेना संक्रमण फैला ताे उच्च शिक्षा विभाग ने आेपन बुक प्रणाली से ही परीक्षा कराने के आदेश जारी किए थे।

31 तक भर सकते हैं फार्मः स्नातक व स्नातकोत्तर के विद्यार्थियों को परीक्षा फार्म भरने के लिए 31 मई तक का मौका दिया गया है। ओपन बुक से परीक्षा को देखते हुए पहले जेयू ने 20 मई परीक्षा फार्म भरने की तारीख निर्धारित की थी, उसके बाद इसे बढ़ाकर 30 मई कर दिया गया था। अब इसे बढाकर 31 मई कर दिया गया है। विद्यार्थी आनलाइन परीक्षा फार्म भर सकते हैं।

Posted By: vikash.pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags