ग्वालियर। ग्वालियर लोकसभा सीट पर भाजपा के विवेक शेजवलकर ने जीत दर्ज की है। उन्होंने कांग्रेस प्रत्याशी अशोक सिंह को 146842 वोटों से हराया है। विवेक शेजवलकर को 627725 और अशोक सिंह को 480408 मत प्राप्त हुए। 2014 के चुनाव में भाजपा के नरेंद्र सिंह तोमर ने कांग्रेस के अशोक सिंह को 29 हजार मतों से पराजित किया था। छठवें चरण में हुए चुनाव में ग्वालियर में 59.78 प्रतिशत मतदान हुआ था।

29 साल पहले पिता हारे थे, अब बेटे को मिली शिकस्त

अजब संयोग है। 29 साल पहले विवेक शेजवलकर के पिता ने कांग्रेस प्रत्याशी अशोक सिंह के पिता को शिकस्त दी थी, वहीं अब उन्होंने खुद ने अशोक सिंह को शिकस्तदी है। भाजपा प्रत्याशी विवेक नारायण शेजवलकर के पिता 1980 में ग्वालियर सीट से जनता पार्टी के प्रत्याशी के रूप में मैदान में उतरे थे। उस समय उन्होंने 1.43 लाख (44.89 प्रतिशत) वोट हासिल किए थे। प्रतिद्वंदी राजेन्द्र सिंह को 1.18 लाख (36.92 प्रतिशत) वोट मिले थे।

29 साल बाद अब नारायण कृष्ण शेजवलकर के पुत्र विवेक नारायण शेजवलकर और राजेन्द्र सिंह के पुत्र अशोक सिंह मैदान में थे। कयास लगाए जा रहे थे कि क्या बेटा,अपने पिता का हिसाब बराबर करने में सफल होगा? या फिर पहले पिता हारे,अब बेटा हारेगा?

दोनों प्रत्याशियों का सियासी सफर

भाजपा प्रत्याशी विवेक शेजवलकर : वर्ष 2004 व 2014 में ग्वालियर के महापौर चुने गए। मौजूदा स्थिति में महापौर हैं। 2014 में महापौर का चुनाव प्रदेश में नए रिकॉर्ड 91 हजार मतों के साथ जीता। नागरिक सहकारी बैंक में सालों तक संचालक व सचिव पद पर रहे। मप्र वित्त निगम में संचालक रहे। 1999-2000 के विधानसभा चुनाव में पार्टी प्रत्याशी रहे। 327 वोटों से कांग्रेसी रमेश अग्रवाल के हाथों परास्त हुए। 2004 में ग्वालियर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष बने। पिता नारायण कृष्ण शेजवलकर 1977-80, 1980-84 के बीच ग्वालियर दो बार सांसद रह चुके हैं।

कांग्रेस प्रत्याशी अशोक सिंह : बाबा कक्का डोंगर सिंह कांग्रेस के जिलाध्यक्ष रहे। स्वतंत्रता आंदोलनों में भाग लिया। पिता राजेन्द्र सिंह सिंह प्रदेश सरकार में राज्यमंत्री रहे। पिता राजेन्द्र सिंह 1980 में लोकसभा का चुनाव भी लड़े। स्वयं अशोक सिंह 2007 के लोकसभा उपचुनाव, 2009, 2014 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के प्रत्याशी रहे। वह चौथी बार लोकसभा का चुनाव लड़ रहे हैं। वे मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी में महामंत्री रह चुके हैं। मौजूदा स्थिति में प्रदेश उपाध्यक्ष हैं।

Posted By: Prashant Pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Ram Mandir Bhumi Pujan
Ram Mandir Bhumi Pujan