Gwalior Electricity News: ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर की बैठक में दो बार बिजली गुल होना एक सहायक प्रबंधक को भारी पड़ गया। सिटी सर्कल के महाप्रबंधक ने सहायक प्रबंधक सर्वेंद्र चौधरी को कार्य में लापरवाही मानते हुए तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है और एचटी मेंटेनेंस संभाग में अटैच कर दिया है।

साेमवार को ऊर्जा मंत्री सिटी सेंटर में वन विभाग के हाल में बैठक ले रहे थे। दोपहर करीब 2 बजे अचानक बिजली गुल हो गई। कुछ देर बाद बिजली बहाल हुई, थोड़़ी देर बाद फिर बिजली चली गई। लगातार दो बार बिजली गुल हुई। इससे बैठक में व्यवधान आया। बिजली जाने का कारण पूछा गया तो इसमें सहायक प्रबंधक की लापरवाही सामने आई। महाप्रबंधक विनोद कटारे ने सहायक प्रबंधक को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया।

ट्रिपिंग पर सख्त हैं मंत्री: शहर में ट्रिपिंग व फाल्ट को लेकर मंत्री सख्त हैं। खुद रियलटी चेक करने के लिए निकल रहे हैं। पोलों की बेल हटाने के लिए वे खुद लाइन पर चढ़ गए थे। इसके बाद से लगातार शहर में बेल व ट्रांसफार्मर का कचरा हटाने का काम चल रहा है। प्रतिदिन 20 ट्रांसफार्मर की सफाई करनी है। साथ ही हर ट्रांसफार्मर की जांच कर उसे सुधारना है।

यह लापरवाही सामने आईः स्टेडियम के पास स्थित सब स्टेशन को बिजली पहुंचाने वाली 33 केवी लाइन में गत दिवस फाल्ट आ गया था। इस फाल्ट को तलाशने में समय लग गया। इस फीडर का लोड मोनोपोल पर डायवर्ट कर दिया। लोगों की बिजली बहाल कर दी। स्टेडियम को बिजली पहुंचाने वाले फीडर का फाल्ट सुधर गया, लेकिन इस फीडर से सप्लाई नहीं दी। लोड मोनोपोल पर जारी रहा। सोमवार की दोपहर में गर्मी बढ़ गई। मोनोपोल पर लोड आ गया। इससे लाइन ट्रिप हो गई। इससे आपूर्ति प्रभावित हो गई। सहायक प्रबंधक की जिम्मेदारी थी कि जब स्टेडियम फीडर का फाल्ट सही हो गया था तो मोनोपोल से सप्लाई हटाकर मूल फीडर लाना था। इस जिम्मेदारी का निर्वाहन नहीं किया।

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local