ग्वालियर. नईदुनिया प्रतिनिधि। नगर निगम में क्षेत्रीय कार्यालय पर पदस्थ किए गए क्षेत्रीय अधिकारियों पर नगर निगम के सभी कार्य टाल दिए गए हैं। साथ ही उन्हें कार्य के हिसाब से कर्मचारी भी नहीं दिए गए हैं। प्रधानमंत्री द्वारा स्वरोजगार योजना के तहत किए जाने वाले 10000 रुपये के ऋण वितरण को लेकर अपर आयुक्त मुकुल गुप्ता ने क्षेत्रीय अधिकारियों की बैठक ली, और उन्हें टारगेट देने के लिए कहा। इस पर सभी क्षेत्रीय अधिकारियों ने कहाकि यह कार्य जनकल्याण शाखा का है, हमारे पास पहले ही काफी काम हैं, ऐसे में आप यह कार्य देंगे तो अन्य कार्य भी पिछड़ जाएंगे। इस पर अपर आयुक्त ने कार्रवाई का भय दिखाया जिसके बाद सभी क्षेत्रीय अधिकारियों ने कहाकि आप सभी को निलंबित करा दो। 8 अगस्त के बाद मूल कार्य को लेकर सभी क्षेत्राधिकारी नगर निगम आयुक्त शिवम वर्मा को ज्ञापन भी देंगे।

नगर निगम में क्षेत्रीय अधिकारियों को बिजली, स्ट्रीट लाइट, पानी, सीवर , चेंबर, सफाई, स्वरोजगार योजना, जरूरत पड़ने पर सम्पत्तिकर वसूली, सहित अन्य सभी कार्य दिए गए हैं। सभी क्षेत्राधिकारी मूल पद के हिसाब से उपयंत्री हैं, इसके चलते वह अपना मूल कार्य नहीं कर पा रहे हैं। नगर निगम में अपर आयुक्त मुकुल गुप्ता ने जनकल्याण विभाग से जुड़ी प्रधानमंत्री स्वरोजगार योजना के टारगेट को लेकर क्षेत्रीय अधिकारियों की बैठक ली। बैठक में उन्होंने सभी क्षेत्राधिकारियों को टारगेट देने की बात कही। इस पर क्षेत्राधिकारियों ने कहाकि यह कार्य अन्य विभाग का है, इसलिए उन्हें दिया जाए। साथ ही कहाकि दूसरे विभाग के लोग कुर्सी पर बैठकर मूंगफली खाते हैं जबकि क्षेत्राधिकारियों की बात कोई कर्मचारी सुनता नहीं है। वहीं एक क्षेत्राधिकारी ने कहाकि उसने एक कम्प्यूटर आपरेटर को बदलने के लिए नोटशीट लिखी थी, लेकिन कम्प्यूटर आपरेटर की जगह उसे ही बदल दिया गया। ऐसे में जब कोई सुनता ही नहीं है तो वह कार्य कैसे करेंगे। इस पर अपर आयुक्त ने कहाकि तुम्हें कार्य तो करना पड़ेगा नहीं तो उपर से कार्रवाई होगी। इस पर सभी क्षेत्राधिकारियों ने कहाकि वह उन्हें निलंबित करा दें।

Posted By: anil.tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local