ग्वालियर.नईदुनिया प्रतिनिधि। खाद की एक रैक आने से जिले में जो संकट था, उससे थोड़ राहत रही। ग्वालियर हिस्से में 757 मीट्रिक टन खाद आया, जिससे बांट दिया गया। वहीं दूसरी ओर कृषि विभाग ने एक नियंत्रण कक्ष भी बना दिया। किसानों को जो दिक्कतें आए, उसकी शिकायत 0751-2467920 नंबर पर कर सकते हैं। इस नंबर पर शिकायत आने पर किसान की मदद की जाएगी। इसके अलावा चंबल के अन्य जिलों को भी खाद का कोटा मिला है। जिसे इन जिलों के लिए भेजा जा रहा है।

खाद से भरी रैक आई। ग्वालियर को जो कोटा मिला, वितरण केंद्रों को खाद दिया गया। डबरा को 100 टन, पुतली घर को 250 टन, लक्ष्मीगंज को 214 टन, एमपी एग्रो को 60 टन खाद दिया गया। निजी दुकानों को 133 टन खाद उपलब्ध कराई गई। इसके अलावा साख सहकारी समितियों पर भी खाद भेजा गया हैष। 12 समितियों पर खाद पहुंचने से किसानों को अब शहर नहीं आना होगा। इस रैक से काफी राहत है।

इन ब्लाक में सबसे ज्यादा जरूरत

-घाटीगांव व मुरार ब्लाक में तिलहन व दलहन की फसलों की बुवाई अधिक है। इसके चलते किसानों को खाद की जरूरत है। सरसों के लिए डीएपी खाद की जरूरत पड़ रही है, जिसके चलते किसानों को मारामारी करनी पड़ रही है। क्योंकि सरसों बुवाई का सीजन चल रहा है। चना व मटर की बुवाई की शुरुवात होनी है।

- डबरा व भितरवार में धान की फसल अधिक है। यहां धान कटने के बाद गेहूं की फसल बोई जाएगी। गेंहू की फसल को लेकर संकट कम है।

Posted By: anil.tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local