Gwalior Fertilizer Crises News: ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। अंचल में रबी की फसल में खाद को लेकर मची किल्लत दूर हो जाएगी। ग्वालियर अंचल को जल्द ही 14700 मेट्रिक टन खाद मिलने जा रही है। यह बात गुरुवार को ग्वालियर में पत्रकारों से चर्चा करते हुए नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कही।

अंचल में उत्पन्न हुए खाद संकट को लेकर सिंधिया से पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि खाद संकट की जानकारी मिलते ही उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एवं केंद्रीय रसायन एवं उर्वरक मंत्री मनसुख मंडविया से बात की। इसके बाद उन्होंने अंचल को खाद देने की बात कही। यह खाद देश के विभिन्न राज्यों में बनी फैक्ट्रियों से रेल के माध्यम से ग्वालियर अंचल में आएगा। अंचल में किसी भी किसान को खाद के लिए परेशान नहीं होने दिया जाएगा। उन्होंने बताया ग्वालियर में अभी तक 1500 मेट्रिक टन खाद आ चुका है। 17 अक्टूबर को गुजरात से 2200 मेट्रिक टन खाद आने वाला है। 19 को आइपीएल कंपनी से 2700 मेट्रिक टन खाद आने वाला है। 20 को 2200 मेट्रिक टन व 25 को 2700 मीट्रिक टन खाद मुरैना के लिए आने वाला है। साथ ही अन्य स्थानों के लिए भी 2200 मेट्रिक टन और खाद आने वाला है।

ग्वालियर चंबल को मिले 15 रैक

अचंल के कई इलाकों से खाद को लेकर मची अफरा-तफरी में काफी हंगामा भी हो चुका है। वहीं प्रशासन भी सख्त रूख अपना चुका है। ग्वालियर अंचल में खाद की आपूर्ति के लिए केंद्र सरकार ने 15 रैक दिए हैं, जिनमें 14700 मेट्रिक टन खाद आ रही है।

इन जिलों के लिए आएगी खाद

अंचल में खाद की आवक 15 अक्टूबर से प्रारंभ हो जाएगी, जो 25 अक्टूबर तक जारी रहेगी।

जिला मैट्रिक टन

मुरैना 5000

ग्वालियर 3000

शिवपुरी 3000

भिंड 3000

Posted By: anil.tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local