- सीएम के निर्देश ठेले वालों और छोटे कारोबारियों के लिए स्थान हो उचित

Gwalior hawker zones News: ग्वालियर (नप्र)। प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान की ठेले वाले और छोटे व्यवसाइयों के लिए उचित स्थान होने की मंशा ग्वालियर में पूरी होना बड़ी चुनौती है। यहां हकीकत यह है कि डेढ़ करोड़ की लागत से एक हजार ठेलेवालों के लिए जो नौ हाकर जोन बनाए थे वे खाली पड़े हैं। शहरभर के हर बाजार में हाथ ठेले सड़कों पर हैं और नतीजा ट्रैफिक जाम हर रोज जनता झेलती है। ग्वालियर के अफसर हों या माननीय, सड़कों पर हाथठेलों के कारोबार और जनता की परेशानी से किसी को फर्क नहीं पड़ता है। कलेक्टर, नगर निगम कमिश्नर हों या पुलिस अधीक्षक या मैदानी स्तर पर तैनात इनके अफसर, कोई हाथठेला वालों को डिगा नहीं सका है। शहर के ठेले वालों को व्यवस्थित करने के लिए नगर निगम ने हॉकर्स जोन बनाए थे। इन हॉकर्स जोन में ठेले वालों को पूरी सुविधा दी जानी थी, यहां पर ठेले वाले अपना व्यापार करते और शाम को माल व सामान सहित वापस अपने घरों तक चले जाते, लेकिन नगर निगम की यह परियोजना पूरी तरह से ठप हो गई। क्योंकि एक भी ठेले वाला हॉकर्स ढील मिलते ही सड़कों पर कब्जा़हिॉकर्स जोन में नगर निगम ने टीनशेड व पानी आदि की व्यवस्था की थी। यहां पर पहले नगर निगम ने सख्ती कर ठेलेवालों को पहुंचा भी दिया था, लेकिन जरा सी ढील मिलते ही यह लोग वापस सड़कों पर निकल आए।

आधी सड़कों को घेर लेते हैं ठेले

महाराज बाड़ा, मुरार सदर बाजार, छह नंबर चौराहा मुरार, गोले का मंदिर, सराफा बाजार सहित विभिन्न बाजारों की हालत बेहद खराब है। यहां पर एक ओर लोग अपने चार पहिया वाहनों पार्क कर देते हैं। इसके बाद सड़क पर ठेलेवाले खड़े हो जाते हैं। जिसके कारण सड़कों पर यातायात के लिए रास्ता बेहद संकरा रह जाता है। ़़ि

हाथ ठेले वालों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। शुक्रवार को भी लोहिया बाजार, दाल बाजार व नया बाजार में सड़क पर लगने वाले ठेले हटवाए गए। आगे भी कार्रवाई जारी रहेगी। सड़क पर ठेले लगाने वालों को हाकर्स जोन में भेजा जाएगा।

शेलेंद्र चौहान, मदाखलत अधिकारी नगर निगम

Posted By: anil.tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local