ग्वालियर। हाई कोर्ट की ग्वालियर बेंच ने छेड़खानी के मामले में अभूतपूर्व फैसला दिया। उच्च न्यायालय ने आरोपियों की ओर से दायर समझौता इस शर्त पर स्वीकार कर लिया कि आरोपी 5-5 हजार रुपए पुलवामा में शहीद हुए सीआरपीएफ जवानों के सहायतार्थ वीर ऐप के जरिए जमा करेंगे।

आपको बता दें कि अशोकनगर जिले के ईसागढ़ थाना क्षेत्र में नए साल के मौके पर डांसर को बुलाया गया था। इसी दौरान भारत, जितेंद्र, आशु और दिलीप यादव ने डांसर के साथ छेड़छाड़ की थी। डांसर ने जब विरोध किया तो आरोपियों ने उनकी पिटाई कर दी थी।

इस मामले में दोनों पक्षों की ओर से थाने में शिकायत की गई थी, लिहाजा पुलिस ने क्रॉस मामला दर्ज कर लिया था। इस मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी हुई थी और उनके खिलाफ चालान पेश हो गया था। लेकिन बाद में दोनों पक्षों ने आपस में सुलह समझौता कर लिया।

इस समझौते की पुष्टि के लिए मामला हाई कोर्ट में पहुंचा था। सोमवार को इसकी सुनवाई हुई। इस दौरान हाई कोर्ट ने आरोपियों की ओर से समझौता प्रस्ताव इस शर्त पर स्वीकार किया कि वे सीआरपीएफ के कल्याण कोष में 5-5 हजार रुपए की राशि जमा कराएंगे। हाई कोर्ट ने इसे मंजूर करते हुए आदेश दिए और उसकी रसीद भी प्रस्तुत करने के निर्देश दिए।

वीर ऐप के जरिए ये राशि आरोपियों द्वारा जमा करा दी गई है। इस शर्त पर हाई कोर्ट ने दोनों पक्षों में हुआ। सुलह समझौता स्वीकार कर लिया है।

Posted By: