Gwalior Hollmark News: विजय सिंह राठौर, ग्वालियर नईदुनिया। साेने के गहनों पर हॉलमार्क अनिवार्य किए जाने के संबंध में ग्वालियर के व्यापारियों की सकारात्मक प्रतिक्रिया मिल रही है। सराफा कारोबारियों का कहना है कि हॉलमार्क के कारण न केवल ग्राहकों को शुद्घता की गारंटी मिलेगी, बल्कि मध्यमवर्गीय दुकानदारों के लिए ग्राहकों को भरोसा दिलाना असान होगा। अभी तक कुछ बड़े ब्रांड ही हॉलमार्क के नाम पर ग्राहकों से अधिक कीमत वसूलते थे। साथ ही छोटे दुकानदारों के सोने को खरा न होना जताते थे, मगर अब ऐसा नहीं हो सकेगा। हालांकि कुछ दुकानदार अभी हॉलमार्क के नियमों को लेकर असमंजस की स्थित में हैं। सराफा बाजार ग्वालियर के अध्यक्ष जवाहर जैन का कहना है कि हॉलमार्क को लेकर सरलीकरण किए जाने की जरूरत है। यह कयास लगाए जा रहे हैं कि हॉलमार्क ज्वैलरी खरीदने के बाद उसमें किसी भी प्रकार का बदलाव या उसकी रिपेयरिंग नहीं होगी। रिपेयरिंग करने पर ज्वैलरी में टांका लगाया जाता है, इससे ज्वैलरी की शुद्घता व वजन में फर्क आ सकता है। यदि ऐसा हुआ तो गहने का हॉलमार्क होने के मायने खत्म हो जाएंगे। हालांकि शहर के अन्य कई प्रतिष्ठित सराफा कारोबारियों ने इस बात को नकारा है। कारोबारियों का कहना है कि टांका उतने की कैरेट सोने का लगाया जा सकता है, जितने कैरेट का जेवर है। ऐसे में हॉलमार्क बरकरार रहेगा। ऐसे में यह प्रतीत हो रहा है हॉलमार्क को लेकर फिलहाल सराफा कारोबारियों में ही असमंजस की स्थिति बनी हुई है। कैट के प्रदेशाध्यक्ष भूपेंद्र जैन ने बताया कि 16 जून से देश के 256 जिलों में, जहां पर पहले से ही हॉलमार्किंग सेंटर्स हैं, वहां मार्किंग लागू है। 1 सितंबर तक पुराने स्टॉक पर हॉलमार्क लगाने से व्यापारी को पेनल्टी नहीं लगेगी। उनका माल भी जब्त नहीं किया जाएगा। कुंदन एवं पोल्की की ज्वेलरी और ज्वेलरी वाली घड़ियों को हॉलमार्क के दायरे से बाहर रखा गया है। गौरतलब है कि भारत में कुल 933 सेंटर हैं, 340 हालमार्क सेंटर बनाने के लिए आवेदन लंबित हैं। देशभर में कुल 36477 ज्वैलर्स ही हालमार्क के लिए रजिस्टर्ड हैं। ग्वालियर में करीब 600 सोना-चांदी की दुकानें हैं, जिनमें से केवल 58 का ही होलमार्क ज्वैलरी टैग के लिए पंजीयन हैं।

हॉलमार्क रजिस्ट्रेशन के लिए लगा अलग काउंटरः माेर गली सराफा बाजार में संचालित सेंटर एलिग्जर गोल्ड हॉलमार्किंग के मालिक सुनिल गिड्डे ने बताया कि हमारे सेंटर पर शुरुआती कुछ दिनों के लिए एक अलग काउंटर लगाया गया है। जिले के सभी ज्वेलर्स हॉलमार्क रजिस्ट्रेशन के लिये आमंत्रित हैं। फिलहाल व्यापारियों की ओर से अच्छी प्रतिक्रिया मिल रही है। दुकानदार लगातार रजिस्ट्रेशन कराने आ रहे हैं। हॉलमार्क रजिस्ट्रेशन हेतु शाप एक्ट रजिस्ट्रेशन, आधार नंबर, वार्षिक टर्नओवर की कापी लाना अनिवार्य है। मैप लोकेशन व हालमर्क लोगो हम बना देते हैं।

वर्जन-

हॉलमार्क ग्राहक व दुकानदार के लिए अच्छा है। इससे बड़े ज्वैलर्स की मनमानी खत्म होगी। हालांकि जेवर हॉलमार्क कराने के लिए कम समय दिया गया, जिसे बढ़ाया जाना चाहिए। ग्राहकों को शुद्घता की गारंटी मिलेगी, यह सबसे महत्वपूर्ण है।

गाैरव गोयल, बालाजी एंपोरियम, टोपी बाजार

वर्जन-

अब तक 11800 रुपये हॉलमार्क रजिस्ट्रेशन के लिए शुल्क लग रहा था, जो अब निशुल्क कर दिया गया है। जिन लोगों ने पहले रुपये दे दिए हैं वे सोच रहे हैं, शायद पैसा सरकार रिफंड कर दे। लोगों में जागरूकता बढ़ रही है। ज्यादातर व्यापारी हॉलमार्क रजिस्ट्रेशन के लिए आवेदन कर रहे हैं।

पुरुषोत्तम जैन, अध्यक्ष, सोना-चांदी व्यवसाई संघ लश्कर

ग्वालियर में स्थित हॉलमार्क सेंटरः

-एलिग्जर गोल्ड, मोर गली सराफा बाजार

-अमोल होलमार्किंग, कोठारी काप्लेक्स सराफा बाजार

-शालिड गोल्ड सराफा बाजार

15 दिन में सोना 2200, तो चांदी तीन हजार रुपये सस्तीः

तारीख सोना चांदी

2 जून 51200 73000

8 जून 50700 73300

12 जून 50400 73500

16 जून 50200 73000

17 जून 49000 70000

(कीमतें सराफा कारोबारी गौरव के मुताबिक। सोना 10 ग्राम 24 कै रेट और चांदी प्रति किलोग्राम रुपयों में)

Posted By: vikash.pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags