Gwalior Jyotish News: ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। ग्रहों की लगातार बदल रही चाल का दौर बना हुआ है। इस साल अप्रैल माह सभी 12 राशि के जातकों के लिए बहुत खास रहने वाला है, इस माह में 5 प्रमुख ग्रह राशि परिवर्तन कर रहे हैं। जिसका असर सभी 12 राशियों के जातकों पर देखने को मिलेगा।

ज्योतिषाचार्य सुनील चोपड़ा ने बताया कि देव गुरु बृहस्पति ने 6 अप्रैल को मकर राशि से कुंभ राशि में प्रवेश कर लिया है। 13 अप्रैल से शुरु हो रहे नवसंवत्सर के दिन सूर्य का मेष राशि में प्रवेश रात्रि में हो रहा है। सूर्य के मेष राशि में प्रवेश करते ही विषुवत संक्रांति प्रारंभ हो जाएगी। इस दिन पवित्र तीर्थस्थलों में स्नान आदि होगा। विषुवत संक्रांति का पर्व 14 अप्रैल बुधवार से मनाया जाएगा। सेनापति मंगल 13-14 अप्रैल की दरमियानी रात 1:16 बजे मिथुन राशि में प्रवेश करेंगे और 2 जून तक मिथुन राशि में रहेंगे। ज्योतिष में मंगल को भूमि पुत्र माना जाता है, वहीं ये पराक्रम के भी कारक ग्रह हैं। मंगल को ज्योतिष में क्रूर ग्रह माना गया है। इसे क्रोध, ऊर्जा, हिंसा, लड़ाई-झगड़े का स्वामी तक कहा गया है। वहीं पूरे देश के लिए ये परिवर्तन इस बार बेहद खास होगा। बुध अपनी राशि परिवर्तन करते हुए 16 अप्रैल को रात 8:55 बजे मीन राशि से मेष राशि में चले जाएंगे। और 30 अप्रैल तक मेष राशि में रहेंगे। शुक्र 10 अप्रैल की सुबह 6:28 बजे मंगल के स्वामित्व वाली मेष राशि में प्रवेश करेगा और 4 मई 1:25 अपरा- तक इसी राशि में गोचर करता रहेगा। मेष राशि मे सूर्य, बुध व शुक्र तीन ग्रहों की युति बनने जा रही है। सूर्य आत्मा का कारक है,जबकि शुक्र सौंदर्य का कारक एवं बुध बुद्धि का कारक होता है। इन तीनों ग्रहों की युति का असर पूरी दुनिया पर पड़ेगा।

Posted By: vikash.pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags