Gwalior latest news: ग्वालियर.नईदुनिया प्रतिनिधि। महाराज बाड़ा पर नगर निगम तथा खान मंत्रालय द्वारा 34 करोड़ रुपए की लागत से तैयार कराए जा रहे भू-विज्ञान (जीएसआई) संग्रहालय के संचालन की समस्या दूर हो गई है। इस संग्रहालय में अभी अस्थायी कनेक्शन लेकर काम कराया जा रहा है, लेकिन स्थायी कनेक्शन के लिए बिजली का अलग से ट्रांसफार्मर लगाने की आवश्यकता है। निगम ने ट्रांसफार्मर लगाने के लिए प्रक्रिया तेज करने के साथ ही टेंडर खोल दिए हैं। अब इससे म्यूजियम तैयार होने के बाद इसका संचालन आसान होगा।

इस संग्रहालय की पहली गैलरी मार्च 2023 तक बनकर तैयार हो जाएगी। संग्रहालय में गैलरियों का निर्माण कर रहे जीएसआई विभाग के डिप्टी डायरेक्टर सुबर्तो सरकार ने नगर निगम आयुक्त किशोर कान्याल से मुलाकात कर छोटी-छोटी समस्याओं के बारे में बताया था। इसमें एक समस्या संग्रहालय के संचालन के लिए स्थायी विद्युत कनेक्शन देने की है। इस संबंध में निगम ने जब बिजली कंपनी के अधिकारियों से बात की, तो उनका कहना था कि संग्रहालय के लिए अलग से ट्रांसफार्मर लगाने की आवश्यकता है। इसके चलते निगम ने टेंडर प्रक्रिया की है। इस संग्रहालय में तैयार गैलरियां पृथ्वी पर उत्पत्ति के रहस्यों से पर्दा हटाएगी। इसके साथ ही यह संग्रहालय में लोगों को जीवन के विकास के विभिन्न चरणों की भी जानकारी दी जाएगी। इसके साथ ही पृथ्वी के अंदर पाए जाने वाले रत्नों, हीरे सहित अन्य खनिज पदार्थों को भी इस संग्रहालय में प्रदर्शित किया जाएगा। संग्रहालय में आकाश से आने वाले उल्का पिंडों की भी जानकारी दी जाएगी। साथ ही उल्का पिंडों को भी प्रदर्शित किया जाएगा। विक्टोरिया मार्केट के जल जाने के बाद नगर निगम ने इसे करोड़ों रुपए की लागत से फिर से पुराने स्वरूप में संवारा है। इसके बाद अब खान मंत्रालय द्वारा विक्टोरिया मार्केट में 35 करोड़ की लागत से संग्रहालय तैयार किया जा रहा है। मार्च 2023 तक जीएसआइ द्वारा प्रथम गैलरी का कार्य पूर्ण कर लिया जाएगा।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close