- कोरोना कर्फ्यू में सख्ती बढ़ाने के बाद भी आवाजाही नहीं रुकी, दुकानें जरूर रहीं बंद

Gwalior Lockdown News: ग्वालियर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोरोना की चेन तोड़ने के लिए कोरोना कर्फ्यू की बढ़ाई गई सख्ती पूरी तरह सड़कों पर नहीं दिखी। सुबह से लेकर दोपहर तक पुलिस ने जगह-जगह अपनी उपस्थिति से निगरानी की, लेकिन दोपहर बाद पुलिस गायब हो गई। अभी तक खानपान व किराना-सामान आदि की चोरी छिपे जो दुकानें खुल रही थीं, वे गुरुवार को बंद दिखीं। मुख्य मार्गाें पर शहर में कुछ जगह पुलिस ने पूरा ट्रैफिक रोक हर किसी को पूछताछ के बाद ही निकलने का प्रयोग भी किया। शाम ढलते ही सड़कों पर आवाजाही बढ़ गई। आदेश में नई बंदिशों का असर सड़कों पर ट्रैफिक को नहीं रोक सका, आवाजाही की स्थिति ऐसी थी कि कोरोना कर्फ्यू पूरी सख्ती से नहीं था। कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह ने बुधवार को आदेश जारी कर कोरोना कर्फ्यू में सख्ती और बढ़ाई है। अभी तक किराना की दुकानों के लिए सुबह के दो घंटे निर्धारित थे और दूध, ब्रेड, टोस्ट, अंडा आदि मिल जाता था। किराना सहित सब होम डिलीवरी कर दिया है। वहीं खानपान के लिए आनलाइन आर्डर को भी बंद कर दिया गया है। किराना व खानपान को लेकर भीड़ भाड़ ज्यादा देखी जा रही थी इसलिए सख्ती बढ़ाई गई। वहीं बुधवार को ग्वालियर आए महिला एवं बाल विकास विभाग के प्रमुख सचिव अशोक शाह ने भी कोरोना कर्फ्यू में ऐसी चहलपहल ग्वालियर में देखकर नाराजगी जताई थी। इस कारण तत्काल आदेश जारी किया गया।

यह रही गुरुवार की स्थिति

1-दुकान-प्रतिष्ठान शहरभर में गुरुवार की सुबह से दुकानों व प्रतिष्ठानों पर खास निगरानी की गई। इसी कारण किराना से लेकर हर खानपान की दुकानें बंद दिखीं। कुछ लोग जो आधा शटर डालकर सामान की सप्लाई कर रहे थे, वे भी गुरुवार को पुलिस के डर से अपनी दुकानें बंद किए बैठे थे। इसके अलावा पुलिस की गाड़ियां और डायल 100 वाहन घूम रहे थे।

2-सड़कों पर आवाजाही कोरोना कर्फ्यू में लोगाें को घरों से बाहर निकलने के लिए रोकने यह पूरी कवायद की गई है, लेकिन इसके बाद भी अनावश्यक आवाजाही जारी रही। दो पहिया वाहन चालक हों या चार पहिया वाहन, शहर की मुख्य सड़कों से लेकर पूरे बाजारों में आवागमन था। मुरार, हजीरा क्षेत्राें में पुलिस ने बैरिकेट्स लगाकर चेकिंग भी की और पूछताछ करके लोगों को जाने दिया, लेकिन यह कुछ ही समय तक था। इसी तरह लश्कर क्षेत्र की सड़कों से लेकर शिंदे की छावनी, फूलबाग, पड़ाव आदि क्षेत्रों में भी यही स्थिति रही। चेकिंग प्वाइंट लगे थे पर हर किसी को नहीं रोक रही थी पुलिस बुधवार की शाम को जिला प्रशासन और पुलिस ने यह तय किया था कि सख्ती के साथ कोरोना कर्फ्यू का पालन कराना है। इसके बाद भी गुरुवार को सुबह से शाम तक ऐसी सख्ती नहीं थी कि लोगों को एहसास हो कि आज अनावश्यक निकलने पर मुश्किल हो जाएगी। शिंदे की छावनी, इंदरगंज चौराहा, अचलेश्वर रोड, नया बाजार, हुजरात पुल, गश्त का ताजिया, फालका बाजार, छप्परवाला पुल, बहोड़ापुर चौराहा, हजीरा क्षेत्र आदि में पुलिस चेकिंग थी, लेकिन सख्ती नहीं थी। चेकिंग प्वाइंटों के सामने से लोग आसानी से निकल रहे थे। आटो,

ई-रिक्शा रोके, उतारी सवारीं: पुलिस ने शहर में कुछ जगहों पर आटो और ई-रिक्शा वालाें को भी रोका। अधिकतर लोगों ने अपने-अपने कारण बताए कि अस्पताल जा रहे हैं या किसी आवश्यक कार्य से जा रहे हैं। कुछ आटो वाले बिना सवारी के निकल रहे थे, जिन्हें हजीरा, मुरार क्षेत्र में खड़ाकर पुलिस ने जब्त कर लिया। वहीं दतिया से आई बस को रोक पुलिस ने सवारियों को उतार लिया।

सीधी बात: हितिका वासल, प्रभारी एसपी सवाल:

सवाल: कोरोना कर्फ्यू का सख्ती से पालन कराने के प्रशासन के निर्देश हैं, इसके बाद भी आवाजाही ज्यादा दिखी?

जवाब: मेडिकल इमरजेंसी से लेकर आवश्यक कारणों वाले लोग ही निकल रहे हैं, इसके अलावा सरकारी दफ्तर और बैंक आदि खुले हैं, इनका ही मूवमेंट दिख रहा है।

सवाल: पब्लिक ट्रांसपोर्ट भी चलता दिखा, कुछ जगह ही पुलिस ने कार्रवाई की?

जवाब: पब्लिक ट्रांसपोर्ट के वाहनों को रोका गया और सभी थाना क्षेत्रों में कार्रवाई की गई है।

सवाल: कहीं-कहीं पुलिस नहीं दिखी न चेकिंग हो रही थी, ऐसे में भीड़ बढ़ती है?

जवाब: पुलिस चेकिंग के प्वाइंट बनाए गए और शहर में कई जगह मैंने स्वंय चेकिंग देखी, काम से जाने वाले लोग ही ज्यादा दिखे।

Posted By: anil.tomar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags