Gwalior Municipal Corporation News: ग्वालियर. नईदुनिया प्रतिनिधि। नगर निगम की आय का सबसे बडे़ साधन सम्पत्तिकर को 100 करोड़ के पार पहुंचाने के लिए निगमायुक्त किशोर कान्याल ने तैयारियां प्रारंभ कर दी हैं। एक ओर वह गार्वेज टैक्स के लिए व्यापारियों से बात कर रहे हैं। वहीं दूसरी ओर वह पूरे सम्पत्तिकर का रिव्यू कर रहे हैं। इसके साथ ही उन्होंने अनुमान लगाया है कि वर्तमान में करीब 3.5 लाख सम्पत्तियां हैं लेकिन वर्तमान में करीब 2 लाख सम्पत्तियों से ही टैक्स लिया जा रहा है। वहीं सम्पत्तिकर के कर संग्रहक साल में मात्र एक माह ही कार्य करते हैं लेकिन इनसे अब पूरे साल में माह बार टारगेट देने की तैयारी चल रही है।

नगर निगम में सभी सम्पत्तियों की जानकारी निकालने के लिए निगमायुक्त किशोर कान्याल ने सेटलाइट मैप बनाने की योजना बनाई है। इसके लिए जल्द ही टैण्डर जारी हो जाएंगे। इस मैप के आ जाने से किस वार्ड में कितनी सम्पत्तियां हैं उसकी पूरी जानकारी मिल जाएगी। इसके साथ ही कितनी व्यवसायिक सम्पत्तियां हैं आैर कितनी आवासीय सम्पत्तियां हैं इसकी भी जानकारी सामने आ जाएगी।

केंद्र सरकार के विभागों पर 17 करोड बकाया

नगर निगम सीमा में केंद्र सरकार के करीब 20 दफ्तर हैं, इन सभी दफ्तरों पर 17 करोड़ रुपये से अधिक का सम्पत्तिकर बकाया है। इस राशि को वसूलने के लिए नगर निगम जल्द ही इन्हें नोटिस जारी करने वाली है। यह पैसा आ जाता है तो निगम का सम्पत्तिकर टारगेट बढ जाएगा। अभी निगम के पास करीब 77 करोड़ रुपया सम्पत्तिकर के रूप में जमा हुआ है।

अवैध से वसूलेंगे सम्पत्तिकर

इसके साथ ही नगर निगम अवैध बस्तियों से सम्पत्तिकर वसूलने की तैयारी कर रही है। इनसे पूरा टैक्स नहीं वसूलेंगे लेकिन इनसे गार्वेज, सहित समेकित टैक्स आदि वसूला जाएगा।

Posted By: anil.tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local