• निगमायुक्त ने सिटी सेंटर में देखी सफाई की व्यवस्था
  • लोगों से कहा नहीं फैलाएं कचरा

ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। इंदौर लगातार सफाई व्यवस्था में प्रथम नंबर पर बना हुआ है। इसका कारण है वहां पर कचरा प्रबंधन। इंदौर जैसा कचरा प्रबंधन ग्वालियर में लागू करने के लिए स्मार्ट सिटी की टीम इंदौर पहुंच गई है। यह टीम इंदौर में कचरा ट्रांसफर स्टेशनों के कार्य की शैली को देखेगी। वहीं एबीडी एरिया में स्मार्ट सिटी सीइओ जयति सिंह ने निरीक्षण किया। वहीं सिटी सेंटर में स्वच्छता का जायजा लेने के लिए निगमायुक्त शिवम वर्मा ने भी निरीक्षण किया।

ईकोग्रीन कंपनी के काम छोड़ दिए जाने के बाद शहर में सफाई की व्यवस्था बिगड़ चुकी है। इस बिगड़ी व्यवस्था को सुधारने के लिए स्मार्ट सिटी सीइओ जयति सिंह ने टीम को इंदौर भेजा है। स्मार्ट सिटी एबीडी एरिया में इंदौर जैसा ट्रांसफर स्टेशन विकसित करने जा रहा है। इन स्टेशनों की तैयारी को देखने के लिए स्मार्ट सिटी सीइओ जयति सिंह ने गुस्र्वार को महाराजा बाड़ा एवं बुद्धापार्क स्थित कचरा ट्रांसफर स्टेशन का निरीक्षण किया। सीइओ जयति सिंह ने बताया कि महाराज बाड़ा क्षेत्र में रात्रिकालीन सफाई पर जोर दिया जाएगा इससे सुबह लोगों को कचरा नहीं दिखना चाहिए। साथ ही सफाई मित्र के आने पर ही लोग कचरा दें। उन्होंने कहा कि शहर में ईकोग्रीन के ट्रांसफर स्टेशन बने हुए हैं बस इन्हें फिर से आधुनिक बनाकर कार्य करना प्रारंभ करना है। साथ ही ट्रांसफर स्टेशनों पर इंदौर किस प्रकार कार्य कर रहा है यह जानने के लिए अधिकारियों की टीम को भेजा गया है।

निगमायुक्त ने किया निरीक्षण

निगमायुक्त शिवम वर्मा ने गुस्र्वार को सिटी सेंटर स्थित अनुपम नगर व गोविंदपुरी क्षेत्रों का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने आमजनों से चर्चा की। वहीं निरीक्षण के दौरान लोगों को गायों को भोजन कराने के लिए सड़क पर भोजन सामग्री रखते हुए देखा। निगमायुक्त ने सामग्री रख रहे लोगों से कहाकि वह गायों को भोजन कराने के लिए जो सामग्री रखते हैं उसके साथ गाय पॉलीथीन भी खा जाती है। इसके कारण उन्हें नुकसान होता है। साथ ही गंदगी भी शहर में फैलती है। इसलिए अगर वह गोमाता को भोजन खिलाकर पुण्यलाभ कमाना चाहते हैं तो लालटिपारा गोशाला जाएं और वहां पर चारा खिलाकर पुण्यलाभ कमाएं। इसके साथ ही उन्होंने डोर टू डोर कचरा संग्रहण कार्य देखा। इस दौरान उन्होंने दिशा निर्देश दिए कि गीला और सूखा कचरा अलग-अलग डाला जाए। वहीं लोगों से उन्होंने डोर टू डोर टिपर वाहन के आने का समय भी पूछा।

सफाई व्यवस्था में परेशानी दिखे तो करे हेल्पलाइन पर कॉल

आमजनों से चर्चा के दौरान निगमायुक्त ने कहाकि सफाई व्यवस्था में कोई परेशानी आए तो वह हेल्पलाइन नंबर पर कॉल करें। साथ ही दुकानदारों से कहाकि वह आवश्यक रूप से डस्टबीन दुकान के सामने रखें और सफाई मित्र को ही कचरा दें, सड़कों पर नहीं डालें।

Posted By: anil.tomar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस