Gwalior Municipal Corporation News: ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। महापौर डा. शोभा सिकरवार ने गुरुवार को निगम मुख्यालय में पहली बार लोक मंत्रणा का आयोजन कर जनता की समस्याएं सुनीं। इस दौरान कुल 22 आवेदन प्राप्त हुए, जिनका निराकरण कराने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए गए। इस लोक मंत्रणा में सड़क की समस्या को लेकर वार्ड क्रमांक एक की पार्षद सईदा अली के पति आसिफ अली का निगम के कार्यपालन यंत्री एपीएस जादौन के साथ विवाद हो गया। दोनों के बीच गहमा-गहमी होते देख अन्य अधिकारियों ने बीच-बचाव कर मामले को शांत कराया। बाद में महापौर ने पार्षद पति की समस्या का प्राथमिकता के आधार पर निराकरण कराने के निर्देश दिए।

लोक मंत्रणा में पार्षद पति आसिफ अली का कहना था कि लक्ष्मीपुरा और जाटवपुरा के बीच सड़क पर पिछले छह माह से गड्ढा है। इसके अलावा जनकताल स्थित हनुमान मंदिर के पास भी गड्ढा होने से पानी भरा रहता है। इस सड़क पर पैच रिपेयरिंग कराने के लिए कई बार निगम के कार्यपालन यंत्री और नोडल अधिकारी अजयपाल सिंह जादौन से कहा गया है, लेकिन वे अलग-अलग बहाने बनाते रहते हैं। कभी वे इस सड़क को पीडब्ल्यूडी के अधीन बताते हैं, तो कभी कर्मचारियों की कमी की बात कहते हैं। उन्हें खुद ही नहीं पता है कि यह सड़क किसकी है। इस पर अजयपाल सिंह जादौन भड़क गए और उन्होंने पार्षद को तमीज से बात करने के लिए कहा। बहस बढ़ती देख अन्य लोगों ने हस्तक्षेप कर दोनों को शांत कराया। लोक मंत्रणा में बलवंत नगर निवासी रामकुमार दीक्षित ने एक नल कनेक्शन के दो बिल आने की शिकायत की। वहीं शब्द प्रताप आश्रम निवासी राधा ओझा ने बताया कि उनके माता-पिता बहुत बीमार हैं और रहने के लिए उनके पास कोई जगह नहीं है, उन्हें आवास दिलाया जाए। इसी प्रकार सिंधिया नगर मरघट पहाड़ी के निवासियों ने नलकूप मोटर न डालने, लक्ष्मण प्रजापति द्वारा भवन निर्माण अनुमति नहीं दी जाने को लेकर शिकायत की गई जिसको लेकर सिटी प्लानर को परीक्षण कर आवश्यक कार्यवाही करने निर्देश दिए गए। लोकमंत्रणा के दौरान एमआईसी सदस्य अवधेश कौरव, आशा चौहान, सुनीता कुशवाह, विधायक प्रतिनिधि कृष्णराव दीक्षित, अपर आयुक्त आरके श्रीवास्तव, अतेंद्र सिंह गुर्जर, मुकुल गुप्ता आदि अधिकारी उपस्थित थे।

-लाइनमैन के स्वजनों को सौंपा 2 लाख रूपए का चैक-

टोपी बाजार में गत मंगलवार को हाईमास्ट लाइट सुधारते समय हाईटेंशन लाइन की चपेट में आकर जान गंवाने वाले निगम के विनियमित कर्मचारी लाइन मैन लाल सिंह के स्वजनों को महापौर ने दो लाख रुपए की आर्थिक सहायता का चैक सौंपा। ये चैक मृतक के ससुर ओमप्रकाश चौहान ने प्राप्त किया। इस दौरान महापौर ने विद्युत शाखा के कर्मचारियों की समस्याओं को भी सुना। इसके उपरांत सभी अधिकारियों व कर्मचारियों ने दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि भी अर्पित की।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close