Gwalior Municipal Corporation News: दीपक सविता, ग्वालियर नईदुनिया। नगर निगम के केदारपुर लैंडफिल साइट पर प्रतिदिन 250 लीटर डीजल की चोरी होती है। इस डीजल की कीमत करीब 25000 रुपये के करीब है। डीजल चोरी की वारदात उस समय सामने आई, जब एलएनटी मशीन में डीजल डालने के लिए दिया गया। कर्मचारियाें ने यह डीजल एलएनटी मशीन में डालने की जगह कचरा उठाने वाले डंपर चालक को कट्टी में भरकर दे दिया। यह डंपर चालक जब डीजल लेकर निकल रहा था, तभी अधिकारियाें ने वाहनों की चैकिंग की। चैकिंग में डंपर चालक के पास से दो कट्टी डीजल पकड़ा। इस मामले की जानकारी वरिष्ठ अधिकारियों को दी गई। उधर अधिकारियों एवं कर्मचारियों के बीच हुई बातचीत का आडियों इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो गया है। जिसमें अधिकारी बोल रहा है कि यह बात किसी को पता नहीं चलना चाहिए, नहीं तो नोडल अधिकारी अतिबल सिंह सभी पर हावी हो जाएंगे। साथ ही वह यह भी बोल रहे हैं कि यह बात केदारपुर प्लांट से बाहर नहीं निकलनी चाहिए। जब कर्मचारियों ने पूछा कि कट्टी में रखे डीजल का क्या करना चाहिए तो अधिकारी ने कहा कि इसे वापस डलवा दो। इसके बाद इस मामले को लेकर अधिकारी और कर्मचारियों में काफी देर तक विचार विमर्श चलता रहा, फिर तय हुआ कि डीजल काे बोलेरो में डालकर एजी आफिस पुल के पास ले आओ। जिससे बोलेरों में कोई नहीं देख सके। इसके बाद स्टाक भी पूरा कर दो। अधिकारी ने पूछा डीजल कितना है तो कर्मचारियों ने कहा कि डीजल 60 लीटर है। इस आडियाे में कर्मचारी बोल रहे थे कि डीजल की जानकारी कार्यशाला प्रभारी सतेंद्र सक्सेना एवं श्रीकांत काटे को भी दी जाए, लेकिन इस मामले को दबा दिया गया। आडियाे वायरल होते ही पूरा मामला निकलकर सामने आ गया।

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local