Gwalior Municipal Corporation News: दीपक सविता, ग्वालियर नईदुनिया। अमृत योजना के तहत डाली गई पानी की लाइनें टेस्टिंग के दौरान ही फूटने लगी हैं। इसके कारण एक ओर जहां हजारों गैलन पानी बर्बाद हो रहा है, वहीं दूसरी तरफ लोगों को भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। लाइनों के फूटने के कारण सड़क भी खराब हो रही है,क्योंकि जिस स्थान पर डामर का रेस्टोरेशन है, वहां पर डामर उखड़कर बाहर आ रहा है। ग्वालियर विधानसभा क्षेत्र के मदनकुई के पास 30 इंच मोटी पानी की लाइन फूट जाने से गोसपुरा, बिरला नगर, चार शहर का नाका, हजीरा, तानसेन नगर, किलागेट, घासमंडी आदि क्षेत्रों में पानी की सप्लाई नहीं हो सकी। रविवार को यहां के निवासी पानी के लिए परेशान रहे हैं। क्योंकि अभी एक दिन छोड़कर पानी सप्लाई किया जा रहा है, जिसके कारण सोमवार को भी इन लोगों को पानी नहीं मिल सकेगा।

145 डब्ल्यूटीपी के प्लांट का अभी ट्रायल चल रहा है। इसके कारण ग्वालियर विधानसभा क्षेत्र एवं मुरार क्षेत्र में पानी की सप्लाई 145 एमएलडी वाटर ट्रीटमेंट प्लांट से की जा रही है। इस प्लांट के चालू होने से तीन दिन में टंकियों को भरने वाली दो लाइनें फूट चुकी हैं। पहली लाइन तीन दिन पहले नारायण विहार कालोनी में भरने वाली पानी की टंकी की थी, इसमें लीकेज होने से लगातार पानी फैल रहा था। दो दिन तक इस लाइन को ठीक नहीं किया जा सका। पानी की लाइन में लीकेज होने के कारण मिट्टी भी लाइन में भर रही थी, इसके कारण पानी की टंकी में यह मिट्टी और गंदगी पहुंची। इससे क्षेत्रवासियों के नलों से थोडी देर तक गंदा पानी आया।

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local