Gwalior New Air Terminal News: वरुण शर्मा, ग्वालियर नईदुनिया। नए एयर टर्मिनल के लिए आलू अनुसंधान केंद्र ने जमीन देने पर सहमति दे दी है। अब प्रशासन काे इसके बदले में जमीन देना है। जिसके लिए प्रशासन ने प्रयास शुरू कर दिए हैं। नया एयर टर्मिनल अब 110 एकड़ नहीं बल्कि 145 एकड़ जमीन पर बनेगा। वहीं इसके बदले में आलू अनुसंधान केंद्र की जो जमीन ली जा रही है, उसके बदले जमीन की तलाश शुरू कर दी गई है। कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह ने इसके लिए अफसरों की टीम को निर्देश दिए हैं कि कुछ दिनों में दो तीन जमीनों को देखा जाए और एक फायनल की जाए। कलेक्टर ने आलू अनुसंधान केंद्र के अधिकारियों से भी संपर्क में रहने को कहा है।

ज्ञात रहे कि नए एयर टर्मिनल को लेकर कवायद तेज हाे गई है। इसको लेकर एनओसी के प्रयास भी जल्द किए जाएंगे। जिले के प्रभारी मंत्री तुलसीराम सिलावट ने रविवार को प्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर के साथ केंद्रीय आलू अनुसंधान केंद्र की जमीन देखने पहुंचे थे। आलू अनुसंधान केंद्र की जमीन पर ग्वालियर के राजमाता विजयाराजे सिंधिया विमानतल का विस्तार प्रस्तावित है। केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्याेतिरादित्य सिंधिया ने एयरपोर्ट के विस्तार के लिए धनराशि मंजूर करा दी है। साथ ही एयरपोर्ट के विस्तार के लिए केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के निर्देश पर केंद्रीय कृषि अनुसंधान परिषद ने आलू अनुसंधान केंद्र की 110 एकड़ जमीन एयरपोर्ट अथॉरिटी आफ इंडिया को आवंटित करने के लिए एनओसी (अनापत्ति प्रमाण-पत्र) जारी कर दी है। जल्द ही ग्वालियर में भव्य एयर टर्मिनल का निर्माण और एयरपोर्ट का विस्तार होगा। एयर टर्मिनल का प्रस्ताव धरातल पर दो से तीन साल में आ सकेगा।

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local