ग्वालियर। नईदुनिया प्रतिनिधि। Gwalior News जयारोग्य अस्पताल के मेडिसिन वार्ड में डॉक्टरों का राउंड चल रहा था। इसी बीच एक महिला की मौत हो गई। डॉक्टर ने जैसे ही महिला को मृत घोषित किया तो उसके बेटे ने रोते हुए चाकू उठाकर खुद पर वार करना शुरू कर दिया, जिससे उसके हाथ एवं चेहरा लहूलुहान हो गया। डॉक्टरों ने युवक को रोका और सिक्योरिटी गार्डों को बुलाया गया। गार्डों ने जब युवक को पकड़ा तो वह बेहोश हो गया। इसके बाद युवक की मरमह पट्टी की गई।

शिवपुरी निवासी मुन्नीदेवी उम्र 60 साल जेएएच के मेडिसिन वार्ड एक में भर्ती थी। बुधवार की सुबह डॉक्टर राउंड ले रहे थे कि तभी महिला की मौत हो गई। डॉक्टरों ने चेक करने के बाद महिला को मृत घोषित किया तो उसका 25 वर्षीय बेटा रोने लगा। डॉक्टर दूसरे मरीजों को देखने में व्यस्त हो गए कि तभी युवक ने फल काटने वाला चाकू उठाकर खुद को मारना शुरू कर दिया। डॉक्टरों ने जब यह देखा तो तत्काल उसे पकड़ा।

हालांकि तब तक युवक अपने चेहरे एवं हाथ पर चाकू मार चुका था। सिक्योरिटी गार्डों ने पहुंचकर युवक को पकडा तो वह बेहोश हो गया। इसके बाद डॉक्टरों ने घायल युवक की मरहम पट्टी की। साथ ही महिला के शव को स्ट्रेचर के जरिए बाहर तक पहुंचाया गया। वहीं बेहोश युवक को भी स्ट्रेचर से बाहर पहुंचा दिया गया। बाद में होश आने तक गार्ड वहीं मौजूद रहे। युवक को होश आने के बाद समझाया गया और एम्बुलेंस के जरिए महिला के शव को लेकर रवाना किया गया।

Posted By: Nai Dunia News Network