ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। अगर आपके घर में कोई बुजुर्ग या दिव्यांग है। जो असुविधा के चलते मेले में नहीं आ पाते थे और मन मार के घर रह जाते थे। उनके लिए इस बार का मेला एक अलग खुशी लेकर आने वाला है। क्योंकि इस बार ग्वालियर व्यापार मेले में बुजुर्गों व दिव्यांगों को घुमाने के लिए ई-रिक्शे की व्यवस्था मेला प्राधिकरण द्वारा की जा रही है। दिव्यांगों के लिए यह ई-रिक्शे संभवतः निशुल्क रहेंगे, वहीं बुजुर्गों के लिए रिक्शे बेहत रियायती दरों पर उपलब्ध कराए जाएंगे। ऐसे में बुजुर्ग व दिव्यांगों को मेले को लेकर अपना मन नहीं मारना होगा और वे मेले में आम सैलानियों की तरह ही खुशियां बटोर सकेंगे।

पॉलीथिन व पानी की पाउच पूर्णतः बैन रहेगी

मेला प्राधिकरण के पदाधिकारियों ने बताया सिंगल यूज प्लास्टिक के संदर्भ में शासन ने जो आदेश जारी किए हैं, मेले में उन पर कड़ाई से पालन कराया जाएगा। पानी की पाउच समेत अन्य प्रतिबंधित सामग्री बिक्री के स्टॉल मेले में नहीं लगने दिए जाएंगे।

- कवर्ड कैंपस में होंगे मोबाइल-लेपटॉप

मोबाइल, लेपटॉप व कंप्यूटर के शोरूम लगाने के लिए कवर्ड कैंपस की व्यवस्था मेले में की जाएगी। मोबाइल-लेपटॉप के लिए अलग सेक्टर बनाए जाने का प्रयास भी मेला प्राधिकरण द्वारा किया जा रहा है। क्योंकि अन्य इलेट्रॉनिक्स शोरूम में टीवी, वॉशिंग मशीन, फ्रिज व समेत अन्य भारी व बड़ी सामग्री होती हैं, इसलिए इतनी ज्यादा जगह उपलब्ध नहीं हो पाएगी। वहीं मोबाइल-लेपटॉप शोरूम के लिए सीमित जगह चाहिए होती है। नमी से भी इन्हें बचाना जरूरी होता। गौरतलब है कि मेला फरवरी माह के अंत तक चलता है, तब कड़के सर्दी व कोहरा शहर में रहता है।

-पार्किंग की प्लानिंग-मृगनयनी गार्डन में होंगे दो-पहिया पार्क

मेला आने वाले सैलानियों को पार्किंग के लिए अधिक परेशान न होना पड़े, यह इंतजाम करना भी प्राधिकरण ने शुरू कर दिया है। मेले की पार्किंग के तौर पर मृगनयनी गार्डन को भी इस्तेमाल किया जाएगा। इस गार्डन में बीते सालों में पार्किंग नहीं हुआ करती थी।

-भीड़ प्रबंधन के इंतजाम, झूला सेक्टर पर विशेष फोकस

रविवार व मंगलवार के साथ ही 26 जनवरी व अन्य तीज-त्यौहारों पर पड़ने वाली छुट्टी के दिन में मेले में अत्यधिक भीड़ होती है। ऐसे में भीड़ प्रबंधन के भी विशेष इंतजाम करने की विशेष प्लानिंग लगातार जारी है। झूला सेक्टर पर विशेष फोकस रहेगा, क्योंकि यहीं पर सबसे अधिक रस रहता है। कोई भी झूला अपने निर्धारित स्थान से अधिक जगह न घेरे इस बात की विशेष मॉनीटरिंग रहेगी।

-1300 में से 1077 पक्की दुकानों की बुकिंग

1300 पक्की दुकानों में से 1077 दुकानों की बुकिंग की जा चुकी है, चबूतरों को मिलाकर कुल 2000 दुकानें हैं, जिनकी बुकिंग लगातार जारी है। पुरानी आरक्षित दुकानों की बुकिंग के लिए निर्धारित 5 अक्टूबर की तारीख को बढ़ाकर 5 नवंबर कर दिया था। अब पहले आओ, पहले पाओ के आधार पर आवेदन लेना शुरू कर दिया है। शासन द्वारा प्रतिबंधित पानी की पाउच के साथ ही अन्य सिंगलयूज प्लास्टिक प्रतिबंधित रहेगी। दिव्यांग व बुजुर्गों के लिए ई-रिक्शे का इंतजाम होगा। - प्रशांत गंगवाल, ग्वालियर मेला विकास प्राधिकरण

Posted By: Nai Dunia News Network