ग्वालियर। ग्वालियर-चंबल में बंदूक स्टेट सिंबल है। इसके लिए किसी भी हद तक जाने के लिए लोग तैयार हैं। इसी चाहत को प्रशासन सेवाभाव की ओर ले जाने में लगा है। बंदूक के लाइसेंस के लिए पहले 10 पौधे लगाने की शर्त रखी थी। अब दूसरी शर्त गौशाला में 10 कंबल दान करने की है। यह आदेश कलेक्टर अनुराग चौधरी ने शनिवार सुबह गोसेवकों एवं समाजसेवियों के साथ लालटिपारा गौशाला में हुई बैठक में दिया है। विगत दिनों नगर निगम द्वारा संचालित मार्क गौशाला में सर्दी से 2 दिनों में 14 गायों की मौत हो गई थी। इसके बाद कलेक्टर ने गायों को सर्दी से बचाने के लिए 3 लाख रुपए का चेक दिया था। वहीं लालटिपारा स्थित आदर्श गौशाला और मार्क गौशाला के प्रबंधन का कार्य संभाल रहे श्रीकृष्णायन देशी गौरक्षाशाला के संतों की ओर से भी 2 लाख स्र्पए के तिरपाल दान दिए गए थे।

कम पड़े इंतजाम तो लाइसेंस को बनाया हथियार

तमाम कोशिशों के बाद भी इन दोनों गौशालाओं में रहने वाली 9000 गायों को सर्दी से बचाने के इंतजाम पूरे नहीं हो पा रहे थे। इसके चलते कलेक्टर अनुराग चौधरी ने लालटिपारा स्थित आदर्श गौशाला में शनिवार की सुबह 9 बजे गोसेवकों एवं समाजसेवियों की बैठक बुलाई। बैठक में सभी से गायों को सर्दी से बचाने के सुझाव मांगे गए। इसके बाद कलेक्टर ने आदेश दिया कि शनिवार से जो भी शस्त्र लाइसेंस का आवेदन करेगा उसे 10 कंबल दान करने होंगे।

व्यवसायिक मार्केट एसोसिएशन से लेंगे मदद

शहर के अंदर लगभग 50 से अधिक मार्केट एसोसिएशन एवं समितियां हैं। यह लोग भी गायों की देखभाल में मदद करना चाहते हैं। लेकिन मदद कैसे की जाए इसका इन्हें ठीक से तरीका नहीं पता है। अब इन समितियों के पदाधिकारियों की बैठक लालटिपारा स्थित आदर्श एवं मार्क गौशाला में होगी। जहां पर इन्हें गौशाला का भ्रमण कराया जाएगा। साथ ही यहां पर चल रहे विभिन्न् कार्यांे की जानकारी दी जाएगी। इसके बाद यह लोग जो भी दान करना चाहे उसका तरीका इन्हें बताया जाएगा।

गौशालाओं में नियमित रूप से लगेंगे स्वास्थ्य शिविर

शुक्रवार को मार्क गौशाला में गायों को सर्दी से बचाने के लिए स्वास्थ्य शिविर आयोजित किया गया था। इसमें एक दर्जन से अधिक पशु चिकित्सकों सहित लगभग 30 अन्य स्वास्थ्य कर्मचारियों ने गायों को टीकाकरण एवं स्वास्थ्य परीक्षण किया था। अब ऐसे स्वास्थ्य शिविर का आयोजन प्रति सप्ताह करने का आदेश कलेक्टर ने दिया है।

जिले में है शस्त्र का शौक

ग्वालियर चंबल संभाग में लाइसेंसी हथियार रखने का लोगों को बहुत शौक है। इससे ग्वालियर जिला भी अछूता नहीं है। ग्वालियर जिले में 28500 शस्त्र लाइसेंस वर्तमान में है। लेकिन इसके बाद भी हर माह लगभग एक सैकड़ा लाइसेंस के लिए आवेदन आते हैं।

बैठक में यह थे उपस्थित

गौशाला में कलेक्टर के साथ हुई बैठक में निगमायुक्त संदीप माकिन, साडा के पूर्व अध्यक्ष राकेश जादौन, संत कृपालसिंह, गौशाला के संत गौरी शंकरायनंद महाराज, अपर कलेक्टर रिकेंश वैश्य, एसडीएम जयति सिंह, सहित गौसेवक एवं समाजसेवी उपस्थित थे।

Posted By: Sandeep Chourey

fantasy cricket
fantasy cricket