-दतिया जिले में 20 मई को हुए थे सामूहिक विवाह सम्मेलन, 701 जोड़ों को बांटने थे उपहार-चेक

-गृहमंत्री सहित माननीयों की उपस्थिति में हुआ था सम्मेलन

Gwalior News: वरुण शर्मा, ग्वालियर नईदुनिया। मुख्यमंत्री विवाह-निकाय योजना में दतिया जिले ने अजब ही काम किया है। 20 मई को 701 जोड़ों का सामूहिक विवाह तो कराया गया, लेकिन खाली हाथ ही विदाई करा दी गई। सरकार से जो 38 हजार रूपये के उपहार मिलने थे, वे अभी दतिया जिले ने नहीं दिए। प्रति जोड़े को 11-11 हजार का चेक देना था, वह भी नहीं दिया। अब जब ग्लोबल बजट के तहत दतिया के पास भी बजट था तो ऐसा क्यों किया गया,इसका स्पष्ट जवाब किसी पर नहीं है। बताया जा रहा है यह जो बजट दतिया को मिला था, वह अलग- अलग मदों में न निकालते हुए एक साथ निकाल लिया गया। हालांकि कलेक्टर दतिया संजय कुमार ने इसकी पुष्टि नहीं की। उनका कहना था कि जांच करा ली जाएगी। दतिया जिले के बिन उपहार सामूहिक विवाह सम्मेलन कराने की खबर शासन स्तर तक पहुंच गई है। आयोजकों ने इसके पीछे कारण यह बताया कि विवाह में दी जाने वाली सामग्री के टेंडर किए थे, लेकिन किसी ने लिए नहीं।

विवाह योजना: यह मिलना थाः शासन की ओर से प्रति जोड़ा जो 55 हजार का बजट दिया गया है, प्रति जोड़ा 11 हजार रुपये का चेक, 38 हजार रुपये के उपहार, जिसमें पलंग, एलईडी,पंखा,घड़ी, 70 ग्राम की चांदी की पायल,10-10 ग्राम के बिछिया-बेंदा व मंगलसूत्र दिया जाना तय है। 6 हजार रुपये निकाय को खर्च के लिए शामिल हैं।

पहले तारीख निकाल दी, टेंडर ही नहीं उठेः दतिया जिले में अफसरों के अनुसार पहले सामूहिक विवाह सम्मेलन की तारीख निकाल दी और इसके बाद सामग्री के लिए टेंडर नहीं उठे, इसलिए बिना उपहार शादी करा दी। विवाह के लिए 15 दिन पहले आवेदन फिर यह जांच की शादी दोबारा तो नहीं हो रही, यह प्रक्रिया है। ग्वालियर में विवाह समारोह में उपहार देने के लिए टेंडर बुलाए तो भीड़ लग गई, यहां 31 मई को विवाह होना है। दतिया में कोई नहीं आया,यह थोड़ी हैरत की बात है।

बजट कहां चला गया,यह किसी को नहीं पताः पूरे प्रदेश में सामूहिक विवाह सम्मेलन के लिए 50 करोड़ का ग्लोबल बजट रखा गया है, जिसमें कोई भी जिला अपने जोड़ों के हिसाब से आहरण कर सकता है। इसमें तीन कैटेगरी में पैसा है, वेंडर के लिए, चेक के लिए और निकाय के लिए। यह बताया गया है कि दतिया जिले ने यह तीनों कैटेगरी का पैसा एक साथ निकाल लिया, जो नहीं निकाला जाना था। आयोजकों के अनुसार बजट में से अभी कुछ खर्च नहीं किया गया है।

वर्जन-

सामूहिक विवाह सम्मेलन में विवाह दिवस के दिन ही उपहार दिए जाने थे, दतिया में ऐसा हुआ है या नहीं इसे दिखवाया जाएगा। बजट वाले बिंदु पर जानकारी लेने के बाद कुछ बता सकेंगे।

प्रतीक हजेला, पीएस, सामाजिक न्याय विभाग,मप्र

वर्जन-

विवाह सम्मेलन में सामग्री के टेंडर न उठने के कारण बाद में वितरण किया जाएगा। बजट को लेकर कोई गड़बड़ की जानकारी नहीं मिली है, सरकारी बजट को कोई नहीं निकाल सकता है।

संजय कुमार, कलेक्टर, दतिया

वर्जन-

पहले विवाह सम्मेलन की तारीख घोषित कर दी थी फिर सामान दिए जाने के टेंडर निकाले तो कोई नहीं आया। इसी कारण सामान व चेक नहीं दिए जा सके। अब आगे सामान का वितरण किया जाएगा।

गिर्राज दुबे, सीईओ,जनपद दतिया

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close