ग्वालियर। हाईकोर्ट की युगलपीठ में मंगलवार को नगर निगम ने अपनी पालन प्रतिवेदन रिपोर्ट पेश कर दी। निगम की रिपोर्ट से कोर्ट संतुष्ट नहीं दिखा। कोर्ट ने सवाल किया कि तलघरों को किस तरह बंद किया गया है। नगर निगम की ओर से बताया गया कि 14 तलघरों को बंद कर दिया है। यह अवैध बने हुए थे और पार्किंग नहीं हो सकती थी। कोर्ट ने फिर से बंद करने का तरीका पूछा तो बताया कि प्रवेश द्वार पर दीवार उठा दी है। इसको लेकर कोर्ट ने टिप्पणी करते हुए कहा कि हमें शब्दों के जाल में न फंसाएं। आपने तलघरों को बंद करने के लिए जो दीवार उठाई है, उसमें एक धक्का मारेंगे तो वह गिर जाएगी और फिर से उपयोग होने लगेगा। इनमें कुछ भरवाते क्यों नहीं है। कोर्ट ने चेतावनी दी कि अगर कार्रवाई ठीक से नहीं की तो हर सुनवाई पर निगम पर जुर्माना लगाएंगे।

मदन सिंह कुशवाह ने तलघरों के अवैध उपयोग को लेकर जनहित याचिका दायर की है। याचिकाकर्ता का तर्क है कि तलघरों का व्यावसायिक उपयोग हो रहा है। वाहनों की पार्किंग सड़क पर की जा रही है। इससे शहर के बाजारों में जाम लगा रहता है। इससे शहर में लोगों को परेशानी हो रही है। गंतव्य तक पहुंचने में काफी समय लग जाता है। सूचना के अधिकार के तहत नगर निगम से तलघरों की जानकारी ली गई थी, उसमें अधिकतर तलघरों का अवैध उपयोग मिला है। नगर निगम के अधिवक्ता दीपक खोत ने बताया कि 7 फरवरी के आदेश के पालन में कार्रवाई जारी है। पिछली दो सुनवाई के दौरान रिपोर्ट पेश की हैं। पिछले हफ्ते की गई कार्रवाई की रिपोर्ट पेश कर दी है। 14 तलघरों पर कार्रवाई कर बंद किया गया है। यह बिना अनुमति के बने हुए थे। पार्किंग संभव नहीं थी। प्रवेश द्वार पर दीवार उठा दी है। अभी कार्रवाई चल रही है।

इसके अलावा सिटी सेंटर क्षेत्र में तलघरों को पार्किंग के लिए खोल दिया है। बाहर बोर्ड भी लगा दिया है कि आम आदमी निशुल्क पार्किंग कर सकता है। कोर्ट ने निगम का तर्क सुनने के बाद कहा कि अवैध निर्माण करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई क्यों नहीं की जा रही है और जुर्माना क्यों नहीं लगाया। अगर निगम जुर्माने की कार्रवाई नहीं करती है तो कोर्ट निगम पर जुर्माना लगाना शुरू कर देगा। यह एक लाख रुपए भी हो सकता है। हर सुनवाई पर जुर्माने की कार्रवाई की जाएगी। इसलिए ठीक से तलघरों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। 22 अप्रैल को याचिका की फिर से सुनवाई होगी। कोर्ट ने प्रभावी कार्रवाई की रिपोर्ट मांगी है।

क्षेत्र क्रमांक 16 में कराए हैं बंद

-नगर निगम ने क्षेत्र क्रमांक 16 के तलघरों पर की गई कार्रवाई की रिपोर्ट पेश की है। यहां पर 14 तलघर बंद कराए हैं।

- कोर्ट की सख्ती के बाद भी तलघरों पर प्रभावी कार्रवाई नहीं हो पा रही है। यह वजह से है कि तलघरों का अवैध उपयोग हो रहा है। वाहन सड़क पर खड़े हो रहे हैं।

- जैसे कि नगर निगम गोविंदपुरी क्षेत्र में कार्रवाई कर चुकी है, लेकिन यहां पर अभी तलघरों में अवैध कारोबार हो रहा है।

Posted By: Saurabh Mishra