ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। न हमसे पक्ष मांगा न सूचना दी, पूरे परिवार पर मामला दर्ज कर दिया। मामला दर्ज होने की सूचना भी हमारे शुभ चिंतकों से मुझे मिली है। मैं अभी शहर से बाहर हूं। जल्द लौटकर पुलिस के सामने अपना पक्ष रखूंगा। इससे पहले कुछ भी कहना ठीक नहीं है। यह बात दिवंगत सरदार संभाजी राव आंग्रे के बेटे तुलाजीराव आंग्रे ने नईदुनिया से फोन पर बात करते हुए कही। रविवार को विश्वविद्यालय थाना में इंदौर घराने से संबंधित अर्जुन सिंह काक की शिकायत पर तुलाजीराव, उनकी पत्नी, बेटी सहित अन्य परिवार के सदस्यों पर पुलिस ने धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया था। फिलहाल पूरा आंग्रे परिवार शहर से बाहर है। वह 3 से 4 दिन में लौटकर आने की बात कह रहे हैं। इंदौर राजघराने से संबंधित अर्जुन सिंह काक(33) की शिकायत पर ग्वालियर के विश्वविद्यालय थाना पुलिस ने रविवार को सिंधिया राजघराने से जुड़े दिवंगत सरदार संभाजीराव के बेटे तुलाजीराव आंग्रे, उनकी पत्नी श्यामभावी आंग्रे, बेटी कात्यायनी आंग्रे, चित्रलेखा आंग्रे, अनिल आठले सहित 8 लोगों व अन्य पर धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया था।

शिकायत यह थी कि अर्जुन की शादी तुलाजीराव की बेटी कात्यायनी आंग्रे (32) के साथ तय हुई थी। पर कात्यायनी की पत्रिका में मंगलदोष होने पर 18 अप्रैल 2018 को ऋषिकेश उत्तराखंड में मंगलदोष पूजा और उसके बाद सगाई हुई। आंग्रे परिवार ने इसी सगाई को सांकेतिक शादी मानने के लिए कहा। दोनों परिवारों की सहमति भी रही। इसके बाद जब विवाह का प्रमाण पत्र आंग्रे परिवार ने अर्जुन के घर पहुंचाया वह ग्वालियर नगर निगम का था, जबकि ऋषिकेश उत्तराखंड का होना चाहिए था। इसके बाद सूचना के अधिकार के तहत जानकारी निकाली और फिर शिकायत की।

शहर से बाहर आंग्रे परिवार, लौटकर रखेगा अपना पक्ष

इस मुद्दे पर जब नईदुनिया ने आंग्रे परिवार का पक्ष जानना चाहा और उनके निवास आंग्रे विलास आंग्रे साहब का बाड़ा पहुंचे तो पता लगा कि पूरा परिवार शहर से बाहर गया है। सिर्फ एक चौकीदार मिला। इसके बाद घर के मुखिया तुलाजीराव आंग्रे से फोन पर संपर्क किया गया। उन्होंने बताया कि सोमवार सुबह से करीब आधा सैकड़ा फोन उनके शुभ चिंतको के आए हैं। पेपर की कटिंग भी उन्होंने भेजी। तब पता लगा कि पूरे आंग्रे परिवार पर मामला दर्ज कर दिया गया है। जबकि पुलिस ने न तो हमें कुछ बताया न ही पक्ष जाना। इसके बाद उन्होंने कहा कि वह 3 से 4 दिन बाद ही शहर लौट पाएंगे। लौटकर पुलिस के सामने अपना पक्ष रखेंगे। जो बात पुलिस को बताएंगे उससे मीडिया को भी अवगत कराएंगे।

इन्होंने कहा

-अभी मामला दर्ज हुआ है अब पूरे मामले की जांच की जा रही है। आज इस मामले में कोई भी कार्रवाई नहीं हो सकी है। जल्द दूसरे पक्ष को बुलाया जाएगा। - रामनरेश यादव, थाना प्रभारी विश्वविद्यालय थाना

Posted By: Nai Dunia News Network