ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। अन्य शहरों की तर्ज पर अब ग्वालियर में भी सफाई व्यवस्था के लिए मशीनों का सहारा लिया जाएगा। ये मशीनें सड़कों से धूल साफ करने और अन्य कार्य करेंगी। जिला प्रशासन के आगे आते ही नगर निगम प्रशासन ने भी सफाई पर जोर लगा दिया है। शहर में ऑटोमैटिक मशीनों से सफाई होगी। इसके लिए निगम ने दो स्वीपिंग मशीनें किराए पर ली हैं। शुक्रवार को खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने फूलबाग पर हरी झंडी दिखाकर शुभारंभ किया। मशीनें रात में शहर की प्रमुख 12 सड़कों से धूल साफ करेंगी। मंत्री श्री तोमर ने कहा कि शहर की स्वच्छता के लिए यह मशीनें बेहतर साबित होंगी। शहर की सड़कों से धूल साफ होने पर प्रदूषण में भी कमी आएगी।

निगमायुक्त संदीप माकिन ने बताया कि स्वच्छता सर्वेक्षण 2020 के मापदंडों के अनुसार निगम आवश्यक संसाधनों से सफाई अभियान चला रहा है। इसी के तहत दो स्वीपिंग मशीनें किराए पर ली हैं। शुभारंभ अवसर पर नेता प्रतिपक्ष कृष्णराव दीक्षित, पार्षद धर्मेन्द्र राणा, दिनेश दीक्षित, अपर आयुक्त नरोत्तम भार्गव आदि मौजूद थे।

इन सड़कों की होगी मशीनों से सफाई

मशीनों से रेसकोर्स रोड पर गोले का मंदिर से होटल एम्बियंस तिराहा तक, होटल से इंदरगंज तक, मृगनयनी गार्डन से आकाशवाणी तिराहा, मानसिंह तोमर प्रतिमा से विवेकानंद चौराहा थाठीपुर, तानसेन रोड पर हजीरा से पडाव, छप्पर वाला पुल से रॉक्सी पुल, शब्द प्रताप आश्रम से उरवाई गेट, छह नम्बर चौराहा, अचलेश्वर मंदिर से ऊंट पुल, ऊंट पुल से हनुमान चौराहा, तेंदुलकर मार्ग स्वास्थ्य संस्थान से विश्वविद्यालय चौराहा होते हुए सिरौल चौराहा तथा होटल तानसेन से राजमाता चौराहा होते हुए विवेकानंद चौराहा तक दोनों मशीनों से हर दिन सफाई की जाएगी।

Posted By: Nai Dunia News Network