Gwalior News: ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। ग्वालियर घराने के गायनाचार्य एवं संगीत संस्था रागायन के संस्थापक पंडित सीतारामशरण की पुण्यतिथि पर गुरुवार को उनके शिष्यों ने स्वरांजलि दी। रीवा के नजदीक रघुनाथपुर में जन्मे पंडित सीतारामशरण ने गंगादास की बड़ी शाला में रहकर संगीत साधना की थी। उन्होंने ग्वालियर घराने के संगीत साधक पंडित कृष्णराव शंकर पंडित से गायन की तालीम ली और उन्हीं के मार्गदर्शन में शंकर गांधर्व संगीत महाविद्यालय में संगीत के शिक्षक के रूप में गुणी शिष्य बने। पंडित सीतारामशरण ने ही रागायन संस्था स्थापित की थी। कार्यक्रम में सर्वप्रथम सरस्वती पूजन कर पंडित सीतारामशरण के चित्र पर माल्यार्पण किया गया। इसके बाद उमेश कंपूवाले, महेश दत्त पांडे, साधना गोरे, संजय देवले और यश देवले ने पंडित सीतारामशरण के लिए प्रशस्ति का गायन किया। मिश्र भैरवी के सुरों में पगी इस प्रशस्ति के बोल थे.. जय गुरुदेव नमन, जय गुरुदेव नमन, पंडित सीतारामशरण..। इस मौके पर रागायन के अध्यक्ष पंडित रामबाबू कटारे और महंत स्वामी रामसेवक दास महाराज उपस्थित थे।

चिकित्सकों का सम्मानः न्यू रचना नगर मोहल्ला सुधार समिति ने गुरुवार को चिकित्सकों का सम्मान किया। ये वे चिकित्सकों हैं, जिन्होंने कोविड की दूसरी लहर में अपनी जान की परवाह किए बिना शहरवासियों की सेवा की। समारोह दीनदयाल नगर में रखा गया। इसमें समिति अध्यक्ष कायम सिंह परिहार ने डा. गौरव शर्मा और संजय राजपूत का सम्मान किया। अध्यक्ष ने कहा पूरा शहर दो माह से दूसरी लहर की चपेट में है। इस दौरान जब हम घरों में हैं, तब चिकित्सक अपनी क्लीनिक या अस्पताल पहुंचकर मरीजों की सेवा में जुटे हुए हैं। इस मौके पर अधिवक्ता अनिल कुमार श्रीवास्तव, अमित समाधिया, अधिवक्ता सचिन श्रीवास्तव और हिरेंद्र सिंह जादौन आदि उपस्थित थे।

Posted By: vikash.pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags