Gwalior News: ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। महिलाओं को सुरक्षा देने के लिए महिला एवं बाल विकास विभाग के लागातार प्रयास जारी हैं। कोरोना के चलते लाकडाउन के कारण इन प्रयासों पर थोड़ा सा विराम लग गया था, लेकिन अब विभाग ने अपनी सभी योजनाओं को मूर्तरूप देने के लिए कमर कस ली है। महिला सशक्तिकरण अधिकारी शालीन शर्मा का कहना है महिला अपराधों के मामले में हमारा प्रदेश प्रथम स्थान पर आ गया है। इस समस्या को लेकर हाल ही में बैठक हुई और पूर्व में तैयार की गईं योजनाओं को मूर्तरूप देने का फैसला लिया गया। बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना के अंतर्गत शहर में महिला सुरक्षा और उसे सशक्त बनाने के लिए आम लोगों को जागरूक किया जा रहा है। जब नियमित रूप से विद्यालय और महाविद्यालय खुल जाएंगे तो उसमें अध्ययनरत विद्यार्थियों के लिए कार्यशालाओं का संचालन किया जाएगा, क्योंकि देश की नींव को मजबूत करना बेहद जरूरी है।

सशक्त बेटियों का बनेगा शहर, डिजिटल बोर्ड पर होगी बेटियों की संख्या

-ब्लाक लेवल टास्क फोर्स को लेकर कलेक्टर ने एसडीएम को दिए निर्देश हैं कि वे महिला सुरक्षा को लेकर टास्क फोर्स बनाए और महिला सुरक्षा के लिए कार्य करे।

-पीसीपीएनडीटी एक्ट पर एसडीएम और नवीन समिति सदस्यों को प्रशिक्षित किया जाएगा।

- सशक्त वाहिनी के अंतर्गत बालिकाओं को पुलिस भर्ती के लिए कोचिंग महाविद्यालयों में दी जाएगी। साथ ही फिजिकल एजुकेशन दी जाएगी। इतना ही नहीं पिंक लाइसेंस यानि निशुल्क ड्राइविंग लाइसेंस बनाए जाएंगे।

-डिजीटल गुड्डा-गुड्डी के बोर्ड शहर के हर अस्पताल में लगाए जाएंगे। जिसमें अंकित किया जाएगा कि हर महीने कितनी बेटी और बेटों ने जन्म लिया है। इससे जनता के बीच बेटी और बेटों कीं जनसंख्या को समझना होगा आसान।

- स्कूल चलें हम अभियान के तहत ग्वालियर के विद्यालय में पहुंचने वाली लडकियों की संख्या कम थी, लेकिन बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजना के अंतर्गत विद्यालय पहुंचने वाली लडकियों का आंकडा 4.96 से 8.26 हो गया है।

-ग्रामीण क्षेत्रों में घर-घर जाकर बेटी बचाओ का संदेश देंगे। इस पहल की प्रधानमंत्री ने प्रशंसा की थी।

नुक्कड नाटक से युवा कलाकार देंगे महिला सम्मान का संदेशः महिला एवं बाल विकास विभाग महिला सुरक्षा और सम्मान की बात जन-जन तक पहुंचाने के लिए युवा कलाकारों की मदद लेगा। वे शहर में नुक्कड़ नाटकों की प्रस्तुति देंगे और बताएंगे किस तरह से महिलाओं के साथ होने वालीं घटनाओं पर अंकुश लग सकता है। ग्वालियर के अलावा अंचल में जागरूकता रैली निकाली जाएगी। डाक्टराें के साथ लगातार पाक्सो एक्ट विषय पर विद्यालयों में कार्यशालाओं का आयोजन किया जाएगा। नगर निगम के डिजिटल बोर्ड पर बेटी बचाओ थीम पर शार्ट फिल्म का प्रसारण किया जाएगा। महिला सशक्तिकरण अधिकारी शालीन शर्मा ने बताया कि एक फरवरी से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की पहल पर सशक्तीकरण योजना के तहत कई प्रशिक्षण कार्यक्रमों का संचालन किया जाएगा, जिससे वे स्वयं का रोजगार स्थापित कर सकें।

Posted By: vikash.pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags