Gwalior News: ग्वालियर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। सप्ताहभर पहले की गई चूक के नतीजे अब सामने आ रहे हैं। बाजारों में खरीदारी के लिए उमड़ी भीड़ से अब कोरोना विस्फोट हो रहा है। घासमंडी, जामा मस्जिद चौक, किलागेट व हजीरा पर भारी भीड़ नजर आ रही थी। यह बाजार पहले से संकरे हैं। दुकानें भी छोटी-छोटी हैं। इसलिए यहां सावधानी बेहद जरूरी है। कोरोना कर्फ्यू में इन बाजारों में सन्नााटा पसरा हुआ है। अब भी वक्त है, भले ही प्रशासन कोरोना कर्फ्यू से राहत प्रदान कर दे, लेकिन स्वयं व परिवार की कोरोना से सुरक्षा के लिए यह गलती नहीं दोहरानी है। बंद बाजार का सन्नााटा हमें याद दिलाता रहेगा, जीवन की रक्षा के लिए फिलहाल दो गज की शरीरिक दूरी वह मास्क जरूरी है। प्रशासन व सरकार भी लोगों से यही अपील कर रही है।

1:30 बजे: घासमंडी-

उपनगर ग्वालियर का यह सबसे संकरा बाजार है। बाबा कपूर की दरगाह से लेकर घासमंडी तिराहे तक दोनों तरफ मिठाई, इलेक्ट्रोनिक्स, किराना सहित छोटी-छोटी दुकानें हैं। इसलिए दो गज की दूरी व मास्क बेहद जरूरी है। एक सप्ताह पहले तक इस बाजार के दुकानदार तो मास्क लगाना भूल ही गए थे। दरवाजे पर खड़े कोरोना को नजर अंदाज कर दिया था। लोग बेखौफ होकर घूम रहे थे। कोरोना की दूसरी लहर ने बड़ा सबक दिया है। लोग अब संकल्प करते नजर आ रहे हैं। न मास्क छोड़ेंगे न दो गज की दूरी भूलेंगे।

1:40 बजे: जामा मस्जिद चौक

जामा मस्जिद चौक पर उपनगर ग्वालियर का सबसे पुराना सराफा बाजार है। यह बाजार भी संकरा है। ठेले वाले इस बाजार को और संकरा बना देते हैं। दुकानें भी पुराने जमाने की हैं। यहां भी सहालग की सप्ताहभर पहले जोरदार खरीदारी हुई थी। बाजार में पैर रखने तक की जगह नहीं थी। रविवार को मंगलवार से भी गहरा सन्नााटा पसरा हुआ था। बाजार में गिनती के लोग नजर आ रहे थे। रविवार को सराफा बाजार में एक व्यापारी के खिलाफ कलेक्टर के आदेश का उल्लंघन करने का मामला भी दर्ज किया गया।

2:20 बजे: किलागेट से हजीरा चौराहा-

इस मार्ग पर फुटपाथी से लेकर कपड़े व किराने का कारोबार है। हजीरा के पास सब्जी मंडी भी है। इसके अलावा तानसेन नगर रोड स्टेट बैंक के पास ठेले भी लगते हैं। यहां भी प्रतिदिन भीड़ रहती है। रविवार को इस क्षेत्र में सन्नााटा पसरा था। पुलिस चारों तरफ से बैरीकेड्स लगाकर हजीरा चौराहे पर घूमने आने वाले लोगों को फटकार भी लगा रही थी। ग्वालियर थाना पुलिस ने रविवार को नौ लोगों के खिलाफ कलेक्टर के आदेश का उल्लंघन व आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज किया है। ताकि लोग समझ जाएं कि कोरोना संक्रमण को नजर अंदाज करना कितना घातक हो सकता है।

Posted By: anil.tomar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags