-टीकाकरण को लेकर मुरार में अजब गजब वाकये, राठौर संतर में पहला डोज भी न लगवाने वाले परिवार मिले

ग्वालियर. नईदुनिया प्रतिनिधि। कोराेना के नए वैरिएंट का भले ही खतरा हो लेकिन कुछ लोग टीकाकरण कराने को तैयार नहीं है। टीकाकरण करने वाले अमले को काफी मशक्कत करना पड़ रही है तब लोग टीका लगवा रहे हैं। मुरार क्षेत्र के टीकाकरण अभियान में बुधवार को कई ऐसे घटनाक्रम हुए जब टीम टीकाकरण के लिए पीछे पड़ीं रहीं और लोग तैयार नहीं हो रहे थे। मुरार में कन्या स्कूल के पास एक युवक को उसके दो भाई टीकाकरण के लिए तैयार करके लाए और जब पहले डोज लगाने टीम ने सीरिंज निकाली तो युवक ने दौड़ लगा दी। उसे पीछा करके पकड़ा। वहीं मुरार के बाजार में आभूषणों का काम करने वाला युवक एफआइआर की धमकी के बाद टीका लगवाने को तैयार हुआ।

पटवारी ज्ञान सिंह राजपूत और उनकी टीम ने बुधवार को टेबल सेंटर और मोबाइल वैन टीमों के साथ अलग अलग जगह टीकाकरण कराया। राठौर संतर मुरार में तो कई परिवार ऐसे थे जिन्होने एक भी टीका नहीं लगवाया था। वहीं राह चलते लोगों से टीकाकरण के बारे में पूछा गया और उनके मोबाइल नंबर भी चेक किए।

इधर कलेक्टर शहरी व ग्रामीण क्षेत्र में पहुंचे

कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह बुधवार को कोरोना टीकाकरण महाअभियान का जायजा लेने शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्र में पहुंचे। उन्होंने इस दौरान टीकाकरण दलों को निर्देश दिए कि स्थायी टीकाकरण केन्द्र पर कोरोना टीका लगाने के साथ-साथ घर-घर संपर्क कर भी शेष लोगों को द्वितीय डोज के टीके लगाएं। साथ ही जोर देकर कहा कि हर हाल में दिसम्बर माह के भीतर टीकाकरण का लक्ष्य पूरा कर लिया जाए। इस दौरान एसडीएम पुष्पा पुषाम भी साथ थीं।

Posted By: anil.tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local