Gwalior Panchayat Election 2022: ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। जिला पंचायत चुनाव में प्रचार थमने के बाद अब मतदाताओं काे घर-घर पहुंचकर लुभाने का सिलसिला शुरू हाे गया है। गुपचुप तरीके से बैठकाें का दाैर भी चल रहा है। ऐसा ही एक वीडियाे इन दिनाें तेजी से इंटरनेट मीडिया पर वायरल हाे रहा है। इस वीडियाे के साथ वार्ड एक की प्रत्याशी अंजना देवी ने चुनाव प्रेक्षक बीएम शर्मा से लिखित में शिकायत दर्ज कराई है। जिसमें मतदाताओं काे साड़ियां बांटने का आराेप लगाया है।

जिला पंचायत के वार्ड क्रमांक एक से प्रत्याशी अंजाना देवी ने एक वीडियाे के साथ चुनाव प्रेक्षक से शिकायत की है। जिसमें आराेप लगाया है कि वार्ड एक से प्रत्याशी जीतेंद्र सिंह गुर्जर व उनके ससुर भीकम सिंह गुर्जर मतदाताओं काे लुभाने के लिए घर-घर जाकर मतदाताओं काे साड़ियां बांट रहे हैं। जाे वीडियाे साैंपा गया है, उसमें कुछ लाेग एक वृद्ध के साथ लाेगाें के घर जाकर साड़ियां देते हुए नजर आ रहे हैं। हालांकि नईदुनिया ऐसे किसी वायरल वीडियाे की पुष्टि नहीं करता है।

उम्मीदवारों को तीन बार बताना होगा खर्च का हिसाबः महापौर एवं पार्षद का चुनाव लड़ रहे उम्मीदवारों को निकाय निर्वाचन के दौरान तीन बार अपने चुनावी खर्च का हिसाब देना होगा। संयुक्त संचालक लेखा एवं नोडल अधिकारी व्यय लेखा योगेन्द्र कुमार सक्सेना ने बताया कि उम्मीदवारों को व्यय लेखा का तीन बार 25 जून, 29 जून एवं तीन जुलाई को कलेक्ट्रेट स्थित कक्ष क्र. 203 में चुनावी खर्च के हिसाब संबंधी दस्तावेजों का निरीक्षण कराना होगा।

सादा कागज पर मिलेगी मतदाताओं को पहचान पर्चीः पंचायत चुनाव में चुनावी शोरगुल थम जाने के बाद अब चुनाव के संबंध में कोई भी सार्वजनिक सभा या जुलूस का आयोजन नहीं किया जा सकेगा। 25 जून को मतदान के दिन केन्द्र के 100 मीटर के दायरे में किसी भी प्रकार का चुनाव प्रचार करना या वोट मांगना पूर्णत: प्रतिबंधित रहेगा। मतदाताओं को दी जाने वाली पहचान पर्ची सादे कागज पर होना चाहिए। पर्ची में चुनाव प्रचार से संबंधित बातें लिखना प्रतिबंधित हैं।

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close