- पनिहार में पीएम आवास तोड़ने का मामला

Gwalior PM Awas News: ग्वालियर (नप्र)। घाटीगांव सब डिवीजन में पनिहार स्थित नयागांव में जिस गरीब परिवार का पीएम आवास तोड़ दिया गया, वहां अब सामुदायिक भवन बनेगा। इसके साथ ही पटवारी कार्यालय भी यहीं खुलेगा। पीड़ित परिवार की मांग है कि जिस सरकारी जगह पर उनका मकान तोड़ा गया वह शासकीय उपयोग में आए और कोई दंबंग कब्जा न करे। यहां सामुदायिक भवन और पटवारी कार्यालय के लिए प्रशासन ने सहमति दी है और परिवार भी इस पर सहमत है। इसी स्थान से थोड़ी दूरी पर परिवार को नई जगह पर पीएम आवास बनाकर दिया जाएगा। चार स्थान दिखाए गए थे, जिसमें यह स्थान चुना गया है। अब जल्द निर्माण कार्य शुरू होगा, इसकी रिपोर्ट सोमवार को कलेक्टर को सौंप दी जाएगी। नायब तहसीलदार घाटीगांव योगिता वाजपेयी की टीम ने रविवार को यह कार्रवाई पूरी की।

यहां यह बता दें कि शुक्रवार को कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह के सामने महिला पप्पी मिर्धा ने परिवार के साथ आकर शिकायत की थी कि उनका पीएम आवास प्रशासन के अधिकारियों ने तोड़ दिया। कलेक्टर यह सुन नाराज हुए और तत्काल एसडीएम घाटीगांव संजीव खेमरिया व तहसीलदार नवनीत शर्मा से मोबाइल पर बात कर कारण पूछा। एसडीएम ने कोर्ट की अवमानना के तहत तोड़ने का कारण बताया और तहसीलदार ने कहा कि पता ही नहीं था कि वह पीएम आवास है। यह सुन तत्काल कलेक्टर ने एसडीएम व तहसीलदार को हटाकर कलेक्ट्रेट अटैच कराया और पीड़ित परिवार को रेडक्रास से एक लाख दस हजार रुपये दिलाए। यह राशि एसडीएम व तहसीलदार से वसूल की जाएगी। ज्वाइंट कलेक्टर प्रदीप शर्मा व एसीइओ विजय दुबे को एसडीएम की जांच के लिए नियुक्त किया जो यह जांचेंगे कि यह आवास क्यों तोड़ा और पहले ऐसे कितने काम किए गए हैं। ़तिंबू लगाकर रह रहा परिवार, रेस्ट हाउस-सामुदायिक भवन नहीं गया़मिौके पर परिवार जहां मकान टूटा था वहीं तंबू लगाकर रह रहा है। नायब तहसीलदार योगिता वाजपेयी ने बताया कि घाटीगांव के नए रेस्ट हाउस व सामुदायिक भवन दोनों में रुकवाने के लिए परिवार से आग्रह किया, लेकिन वे वहीं पुराने स्थान पर ही तंबू लगाकर रह रहे हैं। खर्च के लिए राशि भी दे दी गई है। रविवार को परिवार के साथ चार स्थान देखे, जहां एक चुना गया है। यह पुराने टूटे मकान से सौ मीटर दूर है।

प्रशासन ने चार स्थान दिखाए, जिसमें एक ठीक लगा है। जहां मकान टूटा वहां सामुदायिक भवन या सरकारी कार्यालय बने, पहले इसका निर्माण शुरू हो। सौ मीटर दूरी पर जगह देखी है। जिस जगह पर तोड़ा वहां मकान शासकीय प्रक्रिया के कारण बनाने के लिए प्रशासन पूरी तरह सहमत नहीं है।

संजय परिहार, पप्पी के भाई

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close